Bounce Rate क्या है और कैसे कम करे

बाउंस रेट क्या होता है, कैसे काम करता है? (Website Bounce Rate in SEO in Hindi) [Average Bounce Rate Time]

Bounce शब्द क्या होता है आज हम आपको विस्तार में समझायेंगे। Bounce शब्द एक अंग्रेजी शब्द है जिसका सामान्य अर्थ उछल कूद होता है। यदि हम बात करें बाउंस रेट इन SEO में तो इसका अर्थ वेबसाइट पर आने वाला यूज़र वेबसाइट के एक पेज को देखने के बाद दूसरा पेज चेक करता है या फिर उसी पर वापस चला जाता है। क्या आप एक वेबसाइट ओनर हैं या फिर ब्लॉगर हैं यदि आप हैं तो आपने SEO से जुड़ी (Alexa Rank, Site Speed, Traffic, Daily Page Views, Bounce Rate)  के बारे में सुना होगा। यह सभी टर्म्स SEO से संबंधित होती हैं और इसके लिए ही उपयोग में लाई जाती हैं।

Website Bounce Rate in SEO in Hindi

एक वेबसाइट ओनर या ब्लॉगर हमेशा यही इच्छा रखता है कि उसकी वेबसाइट पर अपलोड पोस्ट दिन-प्रतिदिन ज्यादा रीडर्स द्वारा पढ़ी जाए। वे चाहते हैं कि उनकी सभी पोस्ट एक रीडर के द्वारा सभी लाइनों में विस्तार से पढ़ी जाए। जिससे उसकी वेबसाइट या ब्लॉग पर रीडर्स की संख्या बढ़ती जाए। आज की हमारी इस पोस्ट के जरिए हम आपको बाउंस रेट के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान करेंगे। बाउंस रेट की जानकारी एक वेबसाइट के ओनर या एडमिन को होनी बेहद आवश्यक है ताकि वह अपनी वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक का सही इस्तेमाल कर सके।

SERP क्या है?

आज के समय में किसी भी व्यक्ति को कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए गूगल की सहायता की आवश्यकता होती है। गूगल यूज़र गूगल पर जो भी सर्च करते हैं उसको SERP कहते हैं। SERP की फुल फॉर्म Search engine page result है। जिसके जरिए व्यक्ति जो खोजते है उससे जुड़े कई सारे रिजल्ट वेबसाइट पर शो होते हैं जिस से जुड़े कई सारे लिंक वहां पर नजर आते हैं। उनमें से एक लिंक पर वह क्लिक करके अपने सभी सवालों के जवाब प्राप्त करता है।

यदि कोई वेबसाइट पर रीडर को वह पोस्ट अच्छी लगती है या फिर वह पेज अच्छा लगता है तो वह उस वेबसाइट पर रेगुलर विजिट करने लगता है। यदि उस पोस्ट में कोई एक ऐसा शब्द जुड़ा हो जो उस रीडर को सीधे ही दूसरी पोस्ट पर ले जाता है तो उसका उस पोस्ट को पढ़ने में इंटरेस्ट और बढ़ जाता है। आइए अब बात करते हैं बाउंस रेट की…

Bounce rate क्या है?

BOUNCE RATE इंग्लिश के दो ऐसे शब्द हैं जिनको मिलाकर 1 शब्दों का मेल बनता है जिसका अर्थ बिल्कुल डिफरेंट होता है। Bounce का अर्थ है उचल कूद और रेट का मतलब होता है दर या Quantity। यदि सामान्य भाषा में कहें तो बाउंस रेट का सीधा और सरल अर्थ है कि वेबसाइट का एक ऐसा रीडर जो एक पेज से पोस्ट रीड करने के बाद ही वापस हो जाता है।

यह रेट परसेंटेज में होता है

यदि विशेषज्ञों की मानी जाए तो बाउंस रेट जितना कम हो उतना वेबसाइट और ब्लॉग के लिए अच्छा रहता है। जैसे यदि हम अपनी वेबसाइट की बात करें तो हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट लगभग 70% है। परंतु यह हमारे लिए सही नहीं है क्योंकि एक ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट लगभग 26% से कम होना एक वेबसाइट और ब्लॉग के लिए अच्छा होता है। बाउंस रेट जितना कम होता है एक वेबसाइट उतनी अधिक मशहूर होने लगती है।

Standard Bounce Rate for Websites and Blog

Content Website – 40 – 60 %

Lead Generation Website – 30 – 50 %

Retail Business Website – 20 – 40 %

Service Provider Website – 10 – 30 %

Landing Pages Website – 70 – 90 %

Blogs – 70 – 98 %

अब तक हमने बाउंस रेट क्या है इस बारे में बात की इसके बाद आप जान गए होंगे कि बाउंस रेट क्या होता है? अब हम आपको बताएँगे कि बाउंस रेट कैसे कैलकुलेट किया जाता है।

बाउंस रेट चेक करने का सही तरीका

वैसे तो इंटरनेट पर कई ऐसी वेबसाइट उपलब्ध है जहां पर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट आसानी से चेक कर सकते हैं। यदि सबसे बेहतर वेबसाइट की बात करें तो इसमें दो ऐसी वेबसाइट है जिनके जरिए आप आसानी से एक सटीक बाउंस रेट चेक कर सकते हैं। Google analytics और Alexa गूगल बाउंस रेट चेक करने की दो सबसे बेस्ट साइट्स हैं।

यदि आप ब्लॉग या वेबसाइट के फील्ड में नए हैं तो आपके लिए बेहद जरूरी है कि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट जरूर चेक करें। इसकी मदद से यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट ज्यादा है तो आप उसे सुधारने की पूरी कोशिश कर सकते हैं।

Alexa से Bounce rate चेक करने का सही तरीका

 आइए जानते हैं एलेक्सा से बाउंस रेट चेक करने का सही तरीका…

–  सबसे पहले www.alexa.com/siteinfo क्लिक करें। आप यहां इस लिंक से भी क्लिक कर सकते हैं।

– साइट पर जाने के बाद आपको सर्च बॉक्स पर क्लिक करना होगा।

– साइट पर आपको डोमेन एड्रेस टाइप करना होगा।

– डोमेन एड्रेस डालने के बाद आपको फाइंड बटन पर क्लिक करना होगा। इससे आपको अपनी वेबसाइट से जुड़ी सभी डीटेल्स प्राप्त हो जाएंगी।

Alexa Ranking

Audience Geography

Engagement (Engagement, Daily Page Views Per Visitor and daily time on site)

Top Keyword from Search Engine

Total sites linking in

Related Sites

Google analytic से बाउंस रेट चेक करने का तरीका

 आप Google analytic की सहायता से भी अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट चेक कर सकते हैं। आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट Daily, Monthly या Weekly जैसे आप चाहे वैसे चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको Google analytic से जुड़े रहना होगा।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *