Friday , September 18 2020

How to choose good blog or wordpress theme In Hindi

How to choose good blog or wordpress theme In Hindi [ब्लॉगिंग के लिए थीम का चुनाव कैसे करें]

कई सारे युवक अपना फ्यूचर यूट्यूब पर या फिर ब्लॉगिंग करके सफल बनाना चाहते हैं . गूगल द्वारा निर्मित गूगल ब्लॉगिंग के प्लेटफार्म पर कई सारे नए ब्लॉगर अपना ब्लॉग बनाकर वर्क स्टार्ट करना चाहते हैं . जब कोई नया ब्लागर अपना ब्लॉग बना लेता है , फिर उसके बाद उसको एक बेहतर ब्लॉग थीम का चुनाव करने में बहुत समस्या होने लगती है . बिना यूजर फ्रेंडली थीम के ब्लॉक स्टार्ट करना बिल्कुल भी सही नहीं होता है .

ऐसे में कई सारे नए ब्लॉगर अपने इस सवाल का जवाब ढूंढने के लिए गूगल का सहारा लेते हैं . यदि आप भी उन्हीं लोगों में से एक है , तो कोई बात नहीं हम आपको आज इस पोस्ट के माध्यम से बताएंगे , कि कैसे आप एक यूजर फ्रेंडली थीम का चुनाव बड़ी आसानी से कर सकते हैं . आपको इंटरनेट पर बहुत सी ऐसी वेबसाइट  मिल जाएगी , जो ब्लॉगिंग करने के लिए निशुल्क वेबसाइट थीम टेंप्लेट प्रोवाइड करते हैं . इस तरीके की वेबसाइट पर सैंपल के लिए एक थीम का डिजाइन डेमो दिया होता है , जिसको देखकर यूज़र आकर्षित होकर वहां से अपने ब्लॉग के लिए थीम को आसानी से डाउनलोड कर तो  लेता है , परंतु यह बिल्कुल भी सही तरीका नहीं है . क्योंकि सही थीम वही होती है , जिसमें लोडिंग स्पीड , स्ट्रक्चर डाटा , और ऐसीओ अप्टिमाइज हो .

इसके अतिरिक्त थीम को डाउनलोड करते समय एक बात का अवश्य ध्यान रखना होता है , कि कहीं कोई थीम आपको नल्ड ना मिल जाए ऐसी थीम मिलने पर आपकी वेबसाइट को बहुत ही ज्यादा हानि हो सकती है . इसीलिए किसी भी प्रकार की थीम डाउनलोड करने से पहले इन बातों का ध्यान रखना बहुत ही आवश्यक होता है . सही थीम का सिलेक्शन आपके पूरे ब्लॉक के लिए  हर-तरह से फायदेमंद होता है .

सही थीम का चुनाव कैसे करें और इसके लिए किस तरीके की सही टिप्स हो सकती है ?

यदि आप अपने ब्लॉक के लिए थीम खरीदना चाहते हैं , तो नीचे दिए गए सभी तरह के इंपॉर्टेंस टिप्स को एक बार अवश्य फॉलो करें .

1 . फ़ास्ट लोडिंग टेम्पलेट चुने Select fast loading template :-

एक अच्छे ब्लॉग वेबसाइट के लिए सबसे आवश्यक होता है , कि उसकी वेबसाइट पर लगा थीम सबसे फास्ट हो . जिस भी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड और वेबसाइट पर मौजूद सभी प्रकार के पेजों की लोडिंग स्पीड जितनी बेहतर होगी उतना ही यूजर को भी आपके वेबसाइट पर विजिट करने में आसानी होगी और गूगल भी आपके रैंकिंग को इन्हीं चीजों को देखकर बढ़ाता है .

रैंकिंग के लिए वेबसाइट पर लगे थीम की स्पीड बेहतर होनी चाहिए . आपकी वेबसाइट जितनी फास्ट होगी , उतना ही अच्छा आपको गूगल द्वारा रैंकिंग भी मिल सकता है . यदि आप अपने वेबसाइट की लोडिंग स्पीड और उस पर मौजूद सभी पेजों की स्पीड की जांच करना चाहते हैं , तो ऐसे कई सारे इंटरनेट पर फ्री टूल मौजूद हैं , जिनकी सहायता से आप यह पता लगा सकते हैं :- जैसे गूगल पेज स्पीड इनसाइट , जीटी मैट्रिक्स , पिंगडम आदि . इंटरनेट पर मौजूद इन सभी फ्री टूल की सहायता से आप बड़ी आसानी से अपने ब्लॉक की मोबाइल और डेक्सटॉप पर लोडिंग स्पीड को चेक कर सकते हैं . इन सभी फ्री टूल की सहायता से आप अपने वेबसाइट पर अन्य चीजों की भी जांच बड़ी आसानी से कर सकते हैं .

Pro tips :- इसके अलावा आप थीम के साइज को भी देखकर अंदाजा लगा सकते हैं , कि वह टीम कितनी फास्ट है . एग्जांपल के तौर पर यदि किसी टीम की साइज 1mb है और वहीं पर दूसरे थीम की साइज मात्र 400kb है , तो यह आसानी से पता चल जाएगा कि जो फाइल कम साइज की रहेगी उस थीम की स्पीड भी उतनी ही अच्छी रहेगी . और वह थीम वेबसाइट पर आने वाले यूजर के लिए भी अच्छी साबित होगी .

2 . एसीओ ऑप्टीमाइज़्ड थीम  perfect SEO optimized theme :-

एक सफल ब्लॉग वेबसाइट वही होती है , जिस पर अच्छी मात्रा में विजिटर रोजाना आते हो . इस प्रकार की सफलता पाने के लिए आपको सबसे पहले अपनी वेबसाइट पर SEO के ऊपर बारीकी से ध्यान देना होगा . अपने ब्लॉग वेबसाइट के लिए टीम का चुनाव करते समय SEO Optimization पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए . आपके वेबसाइट पर SEO किस तरीके से किया गया है और क्या वह सही है या नहीं इसका पता लगाने के लिए आप गूगल द्वारा निर्मित एवं निशुल्क Google structured data testing tool का इस्तेमाल कर सकते हैं .

यहां पर आपको अपना डाटा चेक करने के लिए अपने वेबसाइट का यूआरएल कॉपी पेस्ट करना होगा . इतना करने के बाद यह आपके सामने वेबसाइट से संबंधित सभी प्रकार के structured data test report प्रस्तुत कर देता है . इस रिपोर्ट में यदि किसी भी प्रकार का एयर दिखाई नहीं देता है , तो समझ लीजिए कि आपका वेबसाइट और उस पर लगा हुआ थीम बिल्कुल सही है . यदि इसके विपरीत यानी , कि अगर आपके रिपोर्ट में किसी भी प्रकार का एरर मौजूद होता है , तो इसका मतलब यह है , कि आपकी वेबसाइट और उस पर लगा थीम बहुत ही खतरनाक आपके वर्क के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है .

इन्हीं एरर की वजह से ब्लॉगर को Google search console पर भी एरर दिखाई देता है . इसके अतिरिक्त इंटरनेट पर ऐसे बहुत से फ्री टूल आपको मिल जाएंगे जो आपके वेबसाइट पर SEO score दिखाने में आपकी सहायता करते हैं . इस तरीके के टूल का पता लगाने के लिए आप गूगल या फिर यूट्यूब का सहारा भी ले सकते हैं .

Pro tips :- जो आपने अपने ब्लॉग वेबसाइट पर थीम लगाई है और उसी टीम को यदि किसी और ने भी अपने ब्लॉग वेबसाइट पर लगाया है , तो आप उसका भी स्ट्रक्चर चेक कर सकते हैं और यह जान सकते हैं क्या सेम एरर उसमें मौजूद है या नहीं .

3 . फ्री थीम  vs प्रीमियम थीम:-

कई ऐसे नए ब्लॉगर होते हैं जो यह जानना चाहते हैं , कि क्या वे लोग गूगल द्वारा निर्मित फ्री प्लेटफार्म पर अपने ब्लॉग वेबसाइट को डिजाइन करने के लिए प्रीमियम थीम का प्रयोग कर सकते हैं . इस प्रश्न का जवाब भी हम आपको बताने की पूरी कोशिश करेंगे . गूगल के फ्री ब्लॉगर पर वेबसाइट डिजाइन करने से होस्टिंग का पूरा खर्चा बच जाता है .

  • इसके अलावा आप बचाए गए इस पैसे से प्रीमियम थीम और एक कस्टम डोमेन लेकर वेबसाइट को अवश्य स्टार्ट करें . एक प्रीमियम थीम के अनगिनत फायदे होते हैं , जो इस प्रकार है .
  • सभी प्रकार के प्रीमियम थीम को अच्छे से एवं आसान दिखने वाले डिजाइन को ध्यान में रखकर डिजाइन किया जाता है .
  • आप प्रीमियम थीम को अपने अनुसार कस्टमाइजेशन किसी डेवलपर के द्वारा भी बड़े आसानी से करवा सकते हैं .
  • सभी प्रकार की प्रीमियम थीम को फास्ट लोडिंग और यूजर फ्रेंडली तरीके से बनाया जाता है
  • एक प्रीमियम थीम को खरीदने पर ब्लॉगर को अच्छा SEO optimized किया हुआ , थीम मिलता है . जिसके चलते ब्लॉगर को कुछ ज्यादा करने की आवश्यकता भी नहीं होती और उसका काम लगभग आसान हो जाता है .
  • प्रीमियम थीम खरीदने से ब्लॉगर को HTML और CSS coding करने की आवश्यकता भी नहीं होती .
  • ऐसी थीम को खरीदने से आपको किसी भी प्रकार का एक्सटर्नल फूटर क्रेडिट भी किसी को नहीं देना होता है .
  • प्रीमियम थीम को खरीदने का सबसे बड़ा और मुख्य लाभ यह है, कि इसमें किसी भी प्रकार का हानिकारक स्क्रिप्ट मौजूद नहीं होता है , जो आपके वेबसाइट को हानि पहुंचा सके . फ्री थीम को प्रयोग करने के निम्नलिखित नुकसान :-
  • वहीं अगर कोई ब्लॉगर फ्री थीम का प्रयोग करता है , तो उसमें उसको ना जाने कितने ऐसे हानिकारक स्क्रिप्ट मिल जाते हैं , जो ब्लॉगर के द्वारा किए गए वेबसाइट के ऊपर मेहनत को असफल सिद्ध कर देते हैं .

इसके अलावा वेबसाइट के लोडिंग स्पीड में भी भारी गिरावट देखने को मिलती है , जो वेबसाइट के रैंकिंग को काफी ज्यादा इफेक्ट करती है .

वेबसाइट पर फ्री थीम का प्रयोग करने से आपके वेबसाइट को न जाने कितने अनचाहे खतरों का सामना करना पड़ता है, जो कि आपकी वेबसाइट के लिए लाभकारी बिल्कुल भी नहीं होता है .

यदि आपको कोडिंग की अच्छी खासी जानकारी है , तभी आप इस फ्री थीम का लाभ उठा सकते हैं और इसे अपने हिसाब से कस्टमाइज भी कर सकते हैं , परंतु यह सब करने में आपका बहुत ज्यादा समय व्यर्थ हो जाता है और आज के समय में किसी के पास इतना समय बिल्कुल भी नहीं है .

4 . एडसेंस रेडी थीम चुनेChoose AdSense ads ready theme :-

यदि किसी ब्लॉगर को ऐडसेंस की ऐड को वेबसाइट पर लगाने में समस्या होती है या फिर उसको ऐड लगाना नहीं आता , तो इस परिस्थिति में आप ऐडसेंस एड रेडी थीम का प्रयोग कर सकते हैं . इस तरह की थीम के अंदर पहले से ही ऐड लगाने के सेक्शन दिए जाते हैं . ब्लॉगर को केवल अपने ऐडसेंस अकाउंट से ऐड क्रिएट करके उसका कोड यहां पर पेस्ट करने की आवश्यकता होती है . आप अपने अनुसार ऐड लगाकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं .

यदि आप मेहनत और उसके साथ अपने बुद्धि का भली-भांति इस्तेमाल करेंगे , तो आप ब्लॉगिंग करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं . इसके साथ ही मैं कहना चाहूंगा , कि आपको इस क्षेत्र में काम करना है , तो आपको धैर्य रखने की भी बहुत आवश्यकता होती है ,क्योंकि आपको रातों-रात यहां से पैसे मिलने शुरू नहीं हो सकते हैं , इसके लिए आपको अपना समय और अपनी मेहनत अपना बुद्धि विवेक का सहारा लेना होगा .

आपको इस क्षेत्र में सफल होने के लिए इंटरनेट पर ढेरों तरह के सहायता सामग्री मिल जाएगी ,परंतु उसमें अपना क्रिएटिव दिमाग भी लगाना आवश्यक होगा . हमारे द्वारा बताई गई यदि यह जानकारी आपको पसंद आई हो , तो आप इसे अपने मित्रों या फिर दोस्त ब्लॉगर को अवश्य शेयर करें , ताकि उनकी सहायता भी हो सके . यदि आपके कोई सुझाव या फिर आपकी कोई विचार हैं , तो आप हमें अवश्य कमेंट बॉक्स में बताएं .

अन्य पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *