Friday , September 18 2020

Mobile First Indexing क्या हैं, कैसे इनेबल (शुरू) करे |Mobile First Indexing In Hindi

Mobile First Indexing क्या हैं, कैसे इनेबल (शुरू) करे Mobile First Indexing kya hai enable kaise kare Hindi [How to enable mobile first indexing] How To Check

यदि आप कंप्यूटर पर काम करते हैं और आपकी खुद की कोई वेबसाइट है तो आपके लिए कुछ विशेष टर्म्स को जानना बहुत जरुरी है. जैसे कि मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग, जिसे गूगल द्वारा एसईओ अपडेट में ज्यादा तवज्जो दी जा रही है. हालही में गूगल ने वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाने के लिए कुछ बदलाव किये हैं, जिसमें मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग को शामिल किया गया हैं. आपको बता दें कि गूगल द्वारा किये गये इस बदलाव से आपकी वेबसाइट पर भी असर पड़ सकता है. गूगल ने ऐसा इसलिए किया हैं क्योकि गूगल ने पाया है कि इंटरनेट का उपयोग करने वाले यूजर्स विशेष रूप से स्मार्टफोन या टैबलेट का उपयोग कर रहे हैं, जिसके कारण इंटरनेट पर ट्रैफिक भी इन्हीं यूजर्स से ज्यादा होता है. इसलिए गूगल ने मोबाइल यूजर्स को ज्यादा प्राथमिकता देने के लिए इस फीचर को शामिल है. आइये जानते हैं कि है क्या.

Mobile First Indexing क्या है

जैसा कि नाम से ही समझ आ रहा है कि गूगल द्वारा किसी वेबसाइट के डेटा को या कंटेंट को मोबाइल वर्जन  के अनुसार रैंक एवं इंडेक्सिंग की जा रही है. आपको बता दें कि प्रत्येक वेबसाइट के 2 वर्जन  होते है एक डेस्कटॉप और दूसरा मोबाइल. यदि आपकी वेबसाइट में लोग डेस्कटॉप के माध्यम से विजिट करते हैं, तो वह डेस्कटॉप वर्जन  होता हैं, और यदि मोबाइल से देखते हैं तो वह मोबाइल वर्जन  होता है. अब गूगल वेबसाइट की इंडेक्सिंग करने के लिए मोबाइल वर्जन  का इस्तेमाल करने जा रहा है, और अब सभी वेबसाइट्स की इसी का उपयोग करके सर्च रिजल्ट में रैंकिंग एवं इंडेक्स की जायेंगी.

इसे इस तरह से समझ सकते हैं कि जब किसी वेबसाइट में कोई ब्लॉग या कंटेंट पब्लिश किया जाता है, तो गूगल अपने बोट पर उसे डेस्कटॉप एवं मोबाइल वर्जन  दोनों पर क्रॉल  करता है. क्रॉल करने के बाद गूगल द्वारा उसकी रैंकिंग एवं इंडेक्सिंग की जाती हैं, जोकि गूगल द्वारा अब तक डेस्कटॉप वर्जन  के आधार पर की जाती थी. किन्तु अब इसे मोबाइल वर्जन  के अनुसार किया जा रहा है. लेकिन यदि आपका ब्लॉग या कंटेंट डेस्कटॉप वर्जन  में हैं और मोबाइल वर्जन  में नहीं है, तो गूगल उसे भी इंडेक्स तो करेगा लेकिन उससे आपकी वेबसाइट पर एसईओ के अनुसार नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. अतः गूगल द्वारा किये गये इस बदलाव के बाद अब आपको यह ध्यान में रखना होगा कि आपका ब्लॉग या कंटेंट मोबाइल फ्रेंडली हो, और मोबाइल यूजर्स का एक्सपीरियंस भी अच्छा हो इससे आपकी वेबसाइट की रेंकिंग एवं इंडेक्सिंग टॉप रिजल्ट में हो जाएगी.   

ब्लॉग में मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग कैसे शुरू करे [enable Mobile First Indexing]

रेस्पोंसिव थीम का इस्तेमाल करे :-

अपनी वेबसाइट पर किसी ब्लॉग को पब्लिश करने के लिए उसे रेस्पोंसिव थीम अर्थात जो थीम सपोर्ट करे उसे  डालें, क्यूंकि वे  पहले से ही मोबाइल फ्रेंडली होती हैं. यदि आपका ब्लॉग पहले से ही मोबाइल फ्रेंडली है तो आपको गूगल द्वारा किये गये अपडेट से घबराने की अवश्यकता नहीं है. लेकिन इसके लिए आपको ध्यान रखना होगा कि आपको अपने ब्लॉग पर मोबाइल थीम को एक्टिव रखना है.

सही विकल्प को एक्टिव करे

यह करना बहुत आसान हैं इसके लिए आपको अपने ब्लॉग के लेआउट सेक्शन में जाना है. और वहां पर दिए हुए मोबाइल वर्जन  को इनेबल यानि कि एक्टिव करना है. यदि यह पहले से हैं तो कोई बात नहीं किन्तु अधिकतर लोग पहले इसे बंद रखते थे, अब इसे चालू रखने लग गये हैं. अतः यह करने से आपको काफी फायदा हो सकता है.

अपनी वेबसाइट के लिए थीम का चुनाव एक जरुरी प्रक्रिया हैं यहाँ पढ़े कि कैसे अपनी वेबसाइट के लिए थीम का चुनाव करे

अच्छी रैंकिंग के लिए अन्य जरुरी मापदंड

गूगल के द्वारा किये गये इस अपडेट के बाद आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट के ब्लॉग में ट्रैफिक आये एवं एसईओ में यह टॉप पर हो. तो उसके लिए जरुरी हैं आपका मोबाइल यूजर एक्सपीरियंस बहुत ही बेहतरीन होना चाहिए.

जिसके लिए आपके ब्लॉग का फॉण्ट साइज़ एक सा एवं अच्छा होना चाहिए. साथ ही नेविगेशन भी बेहतर हो तो अच्छा है. कुल मिलाकर आपको इसके लिए यह ध्यान देना हैं कि आपके यूजर को ब्लॉग पर  रहते समय किसी तरह की परेशानी न हो. इससे आपकी वेबसाइट के ब्लॉग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा, क्योकि गूगल मोबाइल यूजर्स एक्सपीरियंस बहुत अधिक ध्यान दे रहा है.

एएमपी वर्जन  का उपयोग

एएमपी जिसे एक्सेलरेटेड मोबाइल पेज कहा जाता है, इसके माध्यम से अपने ब्लॉग को मोबाइल फ्रेंडली बनाना काफी आसान है. इसके लिए आपका वर्डप्रेस पर ब्लॉगिंग करना जरुरी है. यदि आप यह करते हैं तो इसमें आप लेआउट सेक्शन में जाकर एएमपी वर्जन  को एक्टिव कर सकते हैं. इससे आपके ब्लॉग की लोडिंग स्पीड बढ़ेगी. स्पीड बढ़ने से भी गूगल एसईओ पर आपके ब्लॉग के लिए सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. जब आप अपने ब्लॉग में एएमपी वर्जन  को एक्टिव करते हैं, तो गूगल सर्च रिजल्ट में बाजू में आपको इसका एक साइन भी नजर आता है. इससे भी रैंकिंग अच्छी होती हैं और आपका ब्लॉग एसईओ के अनुसार टॉप पर आ सकता है.

वेबसाइट का मोबाइल फ्रेंडली टेस्ट कैसे करे  [Mobile First Indexing Checker]

यह जाँचने के लिए कि आपका ब्लॉग मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग फ्रेंडली है भी कि नहीं आपको मोबाइल फ्रेंडली टेस्ट करना चाहिए. इससे आपको इसकी बेहतर जानकारी हो जाएगी. यह टेस्ट गूगल द्वारा दिए गये एक टूल की मदद से किया जा सकता है. वह टूल की डायरेक्ट लिंक यहां दी गई है. इस पर क्लिक करके आपको अपनी वेबसाइट के ब्लॉग का यूआरएल पेस्ट करना है. इसके बाद गूगल द्वारा इसकी स्कैनिंग की जाएगी. यदि यह मोबाइल फ्रेंडली होगा तो इसकी जानकारी वह दे देगा, और अगर नहीं होगा तो भी वह शो कर देगा कि आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली नहीं है.

इसके अलावा कुछ अन्य चीजें भी ध्यान में रखना आवश्यक है जैसे कि कंटेंट, स्ट्रक्चर्ड डेटा, इमेज, मेटा, हरफ्लांग, एक्सएमएल साइटमैप एवं Robot.txt, ओपन ग्राफ टैग्स एवं सोशल मेटा डेटा, टूल्स, इंटरनल लिंकिंग एवं नेवीगेशन आदि को मोबाइल एवं डेस्कटॉप वर्जन  दोनों में एक समान एवं जरुर रखना होगा. 

Mobile First Indexing को गूगल क्यों लाया है

गूगल ने मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग अपडेट को इसलिए लाया हैं क्योकि गूगल का मानना है कि इंटरनेट पर मोबाइल ट्रैफिक ज्यादा होता है बजाय डेस्कटॉप ट्रैफिक के. दरअसल गूगल का पूरा बिज़नेस एवं फाउंडेशन एक आसान से प्रिंसिपल को फॉलो करता है, और वह यह है कि यूजर्स को जल्दी से जल्दी और सही जानकारी प्राप्त हो. इसके लिए पूरी तरह से ऑप्टीमाइज़्ड इमेज, फर्स्ट पेज स्पीड, और साथ में टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग इस ढंग से होती है कि यूजर को वह पसंद आये और उससे उन्हें कोई परेशानी न हो, इसलिए गूगल फ़ास्ट एवं अच्छे डेटा को दर्शाता है. अतः यूजर एक्सपीरियंस मोबाइल वर्जन  में ज्यादा होने के कारण गूगल ने इस अपडेट को लाया है.

FAQ‘s

Q : क्या Mobile First Indexing सभी तरह के ब्लॉग के लागू है ?

Ans : अभी नहीं है लेकीन जल्द ही सभी के लिए यह लागू हो जायेगा. इसकी तैयारी पहले से करना आवश्यक है.

Q : कैसे पता करें कि Mobile First Indexing हमारे ब्लॉग में अपडेट हुआ है या नहीं ?

Ans : गूगल सर्च टीम की तरह से एक ईमेल आयेगा, जिसमें यह जानकारी दी जाएगी.

Q : क्या Mobile First Indexing अपडेट से एसईओ पर कोई असर पड़ेगा ?

Ans : यदि आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली नहीं है तो इसका नाकारात्मक असर जरुर पड़ेगा.

Q : क्या डेस्कटॉप वर्जन  को डिसेबल कर देना चाहिए ?

Ans : नहीं ऐसा नहीं करना है डेस्कटॉप वर्जन  और मोबाइल वर्जन  दोनों आवश्यक है.

Q : क्या ब्लॉग की थीम बदलना चाहिए ?

Ans : यदि आप वर्डप्रेस में हैं तो इसकी आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह पहले से ही मोबाइल फ्रेंडली होती है.

Q : क्या इस Mobile First Indexing  अपडेट से एसईओ में तरक्की मिलेगी ?

Ans : जी हाँ बिलकुल

Q : मोबाइल वर्जन  में ब्लॉग नहीं है तो क्या होगा ?

Ans : आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक नहीं कर पायेगी, और इंडेक्सिंग में भी काफी पीछे होगी, अतः इससे आपकी साइट पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. 

Other Links

  1. WordPress Yoast SEO Plugin को इस्तेमाल करने का तरीका
  2. गूगल डिस्कवर क्या है कैसे कार्य करता हैं
  3. WordPress Page Speed क्या हैं
  4. What is Bounce Rate In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *