What is Off Page SEO Techniques in Hindi

ऑफ पेज एसईओ कैसे करे ? [What is Off Page SEO Techniques in Hindi [kaise kare]]

Off page seo पूरी तरह से अलग है On Page SEO से, इसके अंतर्गत कई महत्वपूर्ण तकनीक आती है ।   Off Page SEO में सबसे प्रमुख है प्रमोशन, हम अपनी वेब साईट को या किसी  आर्टिकल को किस तरह से प्रमोट करते है, यह सब प्रमोशन के अंतर्गत आता है ।   off side seo की तकनीक की सहायता से हम google पर  वेबसाईट को आसानी से रैंक  करवा सकते है  ।   वेब लिंक्स भी Off Page SEO में बहुत महत्वपूर्ण है ।   किसी भी वेबसाईट पर ज्यादा से ज्यादा हाई अथोरिटी  लिंक्स मिलना किसी भी वेबसाईट के लिए बहुत  अच्छा  होता है ।   off page seo में हमे वेब साईट का back hand एक्सेस नहीं करना है ।   वेबसाईट की link शेयर करना है ।   Off Page SEO को करने के बहुत सारे तरीके है यह एक विस्तृत विषय है ।   इसमें कई सारी तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है ।   जिनमे से कुछ मेजर तकनीक को हम विस्तृत में समझेंगे ।  

Off Page SEO In Hindi

Off Page SEO Techniques in Hindi

  • लिंक बिल्डिंग – लिंक बिल्डिंग के अंतर्गत कई सारे तरिके आते है ।  बहुत सारे ऐसे नए ब्लॉगर होते है जो बैक लिंक्स सर्च करते रहते है ।   हाई क्वालिटी बैक link बनाने के लिए सबमिशन वेबसाईट का उपयोग कर सकते है ।   दूसरा तरीका यह है कि हम किसी और वेबसाईट पर जाकर कमेंट बॉक्स में जा के कमेंट कर सकते है ।   इसके अलावा हम किसी अन्य वेबसाईट पर जाकर गेस्ट पोस्ट भी कर  सकते है ।   हम किसी अन्य  वेबसाईट को भी एक्सेस कर सकते है जैसे किसी परिचित की वेबसाईट जो अच्छी तरह से google पर रेंक हो रही हो, उस पर जाकर उसके आर्टिकल्स में हम हमारी link दे सकते है जिससे बेकलिंक मिल सकती है ।   आज प्रतियोगिता के दौर में कोई भी अपनी वेबसाईट पर back link नहीं देता है ।   पहले backlink पोर्ट करना बहुत आसन होता था, google एल्गॉरिथ्म के अनुसार seo कंपनी के पास अपनी बहुत सारी वेबसाईटस होती थी जिन्हें वे इंटरलिंक कर देते थे, और हम इन्हें पेमेंट देकर हमारी link को वेबसाईट को किसी ही वेबसाईट पर पोर्ट कर देते थे जिससे ऑटोमैटिक बहुत सारी backlink बन जाती थी, लेकिन अब backlink के लिए 2 या 3 वेबसाईट को आपस में इंटरलिंक कर सकते है, जिस से प्रत्येक वेबसाईट आपस में जुड़ जाएगी ।   google के नये एल्गॉरिथ्म के अनुसार  अब यदि हम किसी से back link लेते है तो वो वेबसाईट भी अच्छी रैंक पर होना चाहिए तो ही हमे इसका फायदा मिल पायेगा ।   सबसे पहले तो हमे google पर ऐसे किसी article को सर्च करना है जिसकी रैंकिंग अच्छी हो जो सर्च इंजिन पर पहले पेज पर हो, उसके बाद हमे उस article में हमारी link को पोर्ट करना है जिसका हमे बहुत फायदा मिलेगा ।  
  • Question Answer – एक अन्य तरीका और है जिसके द्वारा हम मार्केटिंग कर सकते है वो है Question Answer की वेबसाइट्स पर जाकर एक्टिव होना ।   ऐसी कई सारी  वेबसाइट्स इन्टरनेट पर उपलब्ध है जिनमे quora प्रमुख है, इसमें हम अपनी प्रोफाइल बना कर,  हम प्रश्न का उत्तर दे कर  वेबसाइट की link या url  पुट कर के हमारी वेबसाईट पर ट्राफिक बढ़ा  सकते है, उपयोगकर्ता जैसे ही आपकी दी हुई link पर क्लिक करेगा वो सीधे  आपकी वेबसाईट पर आ जायेगा ।   जिस से हमारे seo की रैंकिंग बढ़ सकती है ।   quora के जैसी बहुत सारी वेबसाइट्स इंटरनेट पर उपलब्ध है ।  
  • गेस्ट पोस्ट सबमिशन – seo की रैंकिंग बढाने का एक तरीका और है गेस्ट पोस्ट इस ऑप्शन में हमे किसी भी विश्वसनीय वेबसाईट पर विजिट करना है और वेबसाईट ओनर से डिस्कस कर के उनसे बात कर के ये बताइए कि हम आपकी वेबसाईट पर article लिखना चाहते है, और उस article में आप अपने 2 या 3 article की link पुट कर सकते है, जिस से हमे back link मिल सकती है, इसे गेस्ट पोस्ट कहते है ।   backlink बनाते समय कुछ बातो का ध्यान जरुर रखे कि वेबसाईट विश्वसनीय हो, उसकी google पर रैंकिंग अच्छी हो तभी हमे backlink का फायदा मिल सकता है ।   
  • आर्टिकल सबमिशन – आर्टिकल सबमिशन गेस्ट पोस्ट सबमिशन से अलग होता है इसमें आर्टिकल को फोरम में सबमिट करना होता है ।  हमारे सब्जेक्ट से रिलेटेड बहुत सारे फोरम उपलब्ध हो जायेंगे जिसमे लोग क्वेश्चन पूछते है उस क्वेश्चन के answer में आप अपने आर्टिकल की link शेयर कर सकते है ।   अच्छे फोरम से बहुत सारी backlink और ट्रेफिक मिलता है ।   google में जाकर आर्टिकल सबमिशन एक्टिव फोरम टाइप करे जिसमे ज्यादा लोग एक्टिव रहते हो वहां जा कर हम link शेयर कर सकते है ।  
  • सोशल मिडिया मार्केटिंग – जैसा कि हमे नाम से ही समझ आ रहा है कि सोशल मिडिया मार्केटिंग मतलब किसी भी सोशल मिडिया के प्लेटफार्म पर अपनी वेबसाईट या article का प्रचार करना ।  हम अपनी वेबसाईट की link को सोशल मिडिया पर शेयर भी कर सकते है ।   हम किसी एक प्लेटफोर्म पर ब्लॉग या आर्टिकल लिखकर अन्य सोशल मिडिया पर उसे शेयर कर सकते है जैसे – फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, यूट्यूब, आदि ।   हालाँकि सोशल मिडिया का असर हमारी वेबसाईट की रैंकिंग पर कम ही पड़ता है ।   लेकिन सर्च इंजन पर सोशल मिडिया मार्केटिंग के द्वारा  seo  की रैंक  को बूस्ट करने में सहायता जरुर मिलती है ।   जो कि सोशल मिडिया में वेबसाईट पर ट्राफिक आने पर इस से  मदद जरुर मिलती है ।   सोशल मार्केटिंग करना किसी भी वेबसाईट के लिए बहुत जरुरी है ।   सोशल मिडिया के जरिये हमारी वेबसाईट को यूजर  तक पहुचाना ही सोशल मिडिया मार्केटिंग है ।  
  • सोशल बुक मार्किंग – सोशल बुक मार्किंग के अंतर्गत हम रेड इन का प्रयोग कर सकते है ।   इनके द्वारा हम हमारे वेबसाईट के कंटेंट को प्रमोट कर सकते है ।   इस तकनीक से हमे वेबसाईट पर ट्रेफिक बढ़ता है ।  
  • इमेज सबमिशन – इमेज सबमिशन के अंतर्गत article में जो इमेज का उपयोग करते है उसे हमे सबमिट करना होता है ।  उस से होता यह है कि जब भी हम google में इमेज search करते है तो ऐसा करने पर उस पर्टिकुलर इमेज के द्वारा हम उसकी वेबसाईट तक पहुँच सकते है ।   इमेज के द्वारा भी हमारी वेबसाईट या आर्टिकल  रैंक होता है ।   ऐसी बहुत सी वेबसाइट्स है जहाँ पर हम इमेज सबमिट कर सकते है जैसे – pintrest, आदि ।  
  • डॉक्यूमेंट शेयरिंग – इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी वेबसाइट्स है जो हमे पीडीऍफ़ फाइल, पीपीटी फाइल प्रजेंटेशन या वीडियो सबमिट करने की अनुमति देती है, जिनमे कुछ बिलकुल फ्री होती है और कुछ पेड होती है ।   हम हमारे आर्टिकल को पीडीऍफ़ फाइल में कन्वर्ट कर के किसी भी वेबसाईट पर शेयर कर सकते है जिससे backlink मिलती है और वेबसाईट पर ट्रेफिक भी होता है ।  

इन सभी off page seo तकनीक का एक ही उद्देश्य होता है कि हमारी वेबसाइट्स को backlink मिले और ट्रेफिक मिले ।   backlink और ट्रेफिक मिलेगा तो जाहिर सी बात है कि हमारा article किसी भी सर्च इंजिन पर google हो या याहू हो article रैंक होना शुरू हो जाता है ।   किसी भी वेबसाईट के लिए off page seo बहुत ही महत्वपूर्ण होता है ।  

Other Articles 

  1. What is Keyword in SEO Hindi
  2. What is Plagiarism in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *