Google AMP Pages Full Form Pros And Cons In Hindi

0

Google AMP Pages Full Form Pros And Cons In Hindi

क्या आपने अपने Blog में Google AMP Pages को install किया हुआ है लेकिन क्या आप इसके फायदे व नुकसान के बारे में जानते है? नहीं, तो इस article में, मै आपको Google AMP Pages Full Form और उनके Pros and Cons के बारे में बताऊँगा|

जो bloggers blog लिखते है वे Google AMP Pages के बारे में कुछ ना कुछ जरूर जानते होंगे| अगर आप एक new blogger है और आपको Google AMP Pages के बारे में नहीं पता तो आपको मेरे इस आर्टिकल Google AMP Pages Full Form Pros and Cons से सारी जानकारी मिल जाएगी|

Google AMP Pages Full Form Pros and Cons

Google AMP Pages क्या है और इसका Full Form क्या है

Table of Contents

 Google AMP Pages का फुल फॉर्म Accelerated Mobile Pages है| अगर हम इसके नाम के शाब्दिक अर्थ की तरफ जाए तो हमें एमपी का मतलब पता चल जाता है| AMP Pages वे  होते हैं जो कि वेबसाइट की loading speed बढ़ाते हैं अर्थात किसी भी Website के पेज को click करने के बाद उसके loading time है AMP Pages उसको बढ़ाता है| जिससे Website का पेज जल्द से जल्द open हो जाता हैं और इसके जरिये किसी भी Website की स्पीड बेहतर हो जाती है|

Google AMP Pages की क्या जरूरत हैं?

2021 में Readers के पास बहुत ही कम समय होता है और उसके पास हाई स्पीड डाटा का नेटवर्क होता है| इसीलिए हर एक रीडर चाहता है कि उसे click करते ही उसने जो topic search किया है वह उसे पढ़ने को मिल जाये| लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो वह आसानी से Website को बंद करके दूसरी Website की तरफ रुख कर लेता है|

जैसे माना की किसी Reader ने search किया की SEO क्या है? और फिर उसने आपके Article पर click किया अगर उस Reader के सामने आपका Article load होने में time लेता है तो इससे Reader का experience आपकी website के प्रति अच्छा नहीं होता है और ज्यादा loading time के कारण वह दूसरी Website को open करता है|

इससे आपको 2 नुकसान होते है पहला आपके Website की Bounce Rate बढ़ती है और दूसरा आपकी Website Google SERP पर नीचे जाने लगती है मतलब down होने लगती है| इसलिए Google AMP Pages किसी भी Website के लिए बहुत जरुरी है|

Google AMP Pages खासतौर पर किस Platform के लिए बने हैं?

Google AMP Pages खासतौर पर Mobile के लिए बनाये गए है| AMP एक open सोर्स फ्रेमवर्क होता है जो भी मोबाइल पर आसानी से काम करता है| आज के समय में यह देखा गया है कि ज्यादातर लोग Internet Browsing के लिए डेक्सटॉप लैपटॉप की अपेक्षा मोबाइल का इस्तेमाल करने लगे हैं| इसीलिए एक ऐसी वेबसाइट का बनना बहुत ही जरूरी है जोकि Mobile Friendly हो|

Google AMP Pages किसी भी वेबसाइट के स्पीड को बढ़ाते हैं और उनकी वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाते हैं| जो भी वेबसाइट loading में ज्यादा time लेती है वे वेबसाइट अगर Google AMP Pages की help लेती हैं| तो यह Pages आसानी से मोबाइल पर उपलब्ध हो जाते हैं| फिर चाहे उस Website पर कितना ही ज्यादा बड़ा कंटैंट क्यों ना हो, वह कुछ ही समय पर मोबाइल स्क्रीन पर खुल जाता है ।

Google AMP Pages में HTML JavaScript और CACHE LIBRARIES दी गई हैं जो कि किसी भी वेबसाइट को बहुत ही सुंदर और User Friendly बनाती हैं| जिससे Pages तेजी से लोड होते हैं और मोबाइल ब्राउज़िंग करते समाअत क्लिक करते ही खुल जाते हैं|

Google AMP Pages के क्या लाभ हैं?

Google AMP Pages से आपकी Website को बहुत फायदा होगा| यहाँ मैने AMP Pages से होने वाले 6 तरीके बताए| जो इस प्रकार है;

1. Website की Speed बढ़ जाती है

इसका सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह Website की speed को बढ़ाता है| अर्थात ब्राउज़िंग के समय Website के pages को click करते ही वे screen पर खुल जाते हैं जिससे यूजर का समय बचता है| और Users उसे बिना किसी परेशानी के अपने पसंदीदा डाटा को पढ़ पाते है जिससे Website की performance बेहतर होती है और Users आपकी Website को पसंद करने लगते है|

2. बेस्ड कंटैंट वेबसाइट के लिए AMP Pages बहुत महत्वपूर्ण है

वे Websites जो Users को महत्वपूर्ण जानकारी देती है| उन वेबसाइट के लिए Google AMP Pages बहुत ही उत्तम है| Google AMP Pages उनकी Website के loading time को कम करता है और आसानी से यूजर को डाटा उपलब्ध कराता है|

3. Server को भी फायदा मिलता है

Google AMP Pages के इस्तेमाल से साइट के Server को भी फायदा मिलता है| क्योंकि Google AMP Pages के कारण साइट का लोडिंग टाइम अपने आप ही कम हो जाता है जिससे सर्वर पर का स्ट्रैस कम पड़ता है और Server की परफॉर्मेंस बेहतर होती जाती है|

4. नकारात्मक प्रभाव से Website बची रहती है

आज के समय में हर एक Reader के पास high speed data है| इसीलिए वह चाहता है कि उसका समय बचे और click करते ही Website का page उसके सामने मौजूद रहे, परंतु समान्यतः वेबसाइट मोबाइल पर खुलने में समय लेती है| लेकिन वे वेबसाइट जो कि Google AMP Pages का इस्तेमाल करती हैं वे मोबाइल ब्राउज़िंग पर आसानी से खुल जाती हैं| जिससे उन Website पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता|

5. Ranking पर Positive Effect

चूंकि Google AMP Pages के कारण Website की speed बढ़ जाती है और वह मोबाइल पर आसानी से खुलने जाती है| जिस कारण मोबाइल  search engine पर उस Website की Ranking बेहतर हो जाती है। वैसे तो Google AMP Pages का Website रैंकिंग पर कोई direct positive effect नहीं होता है| लेकिन अगर किसी Website को यूजर द्वारा अधिक पसंद किया जा रहा है तो इसका प्रभाव positive पड़ता है|

Google AMP Pages से क्या हानियाँ है?

अगर किसी चीज़ के फायदे होते है तो उसके नुकसान भी होते है| ऐसे ही Google AMP Pages से भी कुछ नुकसान भी है जो इस प्रकार है;

1. Video content loading Slow हो जाती है

Scand.com के अनुसार Google AMP Pages किसी भी Website में लगने वाले Video content की loading speed को काम कर देता है|

 2. रेवेन्यू घट जाता है

AMP Pages Website की स्पीड को अच्छा करने के लिए उसमें केवल वैल्युएबल कंटेंट को ही अपने रीडर को दिखाते है| इस स्थिति में Website Google Ads कम शो करती हैं| जिसका प्रभाव रेवेन्यू पर पड़ता है और Ads का रेवेन्यू घटता चला जाता है|

 3. Shopping Website पर नकारात्मक प्रभाव

चूंकि AMP Pages heavy कंटेंट नहीं दिखाते है| अर्थात वह वीडियो, photos जैसी चीजें upload नहीं करती है और shopping websites पर इमेजेस का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है| अगर ऐसे में इमेजेस ही अपलोड ना की जाए तो साइट पर गलत प्रभाव पड़ेगा|

Google AMP Website पर किस तरह से काम करता है?

2021में ज्यादातर लोग मोबाइल का use करते हैं, इसीलिए Website का Mobile Friendly होना बहुत जरूरी है| इसलिए AMP पेजेस यही कार्य करता है| वह किसी भी Website को optimize कर देता है| जिससे वह Website मोबाइल पर आसानी से उपलब्ध कराई जा सके|  इसे करने के लिए Website owner अपनी वेबसाइट के AMP पेजेस को Enable कर देते है जिससे उसकी Website optimize हो जाती है|

जिसके तहत AMP पेजेस केवल उस content को पहले अपने Reader को दिखाते हैं जो कि बहुत ज्यादा जरूरी है| और जो content धीरे-धीरे upload होता है| Google उन्हें सेकंड प्रिओरिटी पर रखता है| जिससे Website जल्द ही से open हो जाती है| 

इस प्रक्रिया को करने के लिए Google AMP Pages आपके Website के डाटा को अपने Cache मेमोरी में स्टोर कर लेता है| और जैसे ही आप की Website से संबंधित क्वेरी आती है तो वह अपने Cache में स्टोर डाटा को Reader को उपलब्ध कराता है, इससे साइट जल्दी ब्राउज़र पर open हो जाती है|

AMP Theme क्या है इसे मैने अपने दूसरे article में और भी अच्छे तरीके से समझाया है| आप इसे भी अवश्य पढ़े| ये article भी आपके बहुत काम आने वाला है|

AMP पेजेस कैसे सेट किए जाते हैं?

1AMP पेजेस एक तरह का Plugin है इसलिए किसी भी वेबसाइट में AMP पेजेस इनेबल करने के लिए हमें AMP Plugin को वेबसाइट में Add करना होता है|
2इस Pluginको install करने के बाद AMP पेजेस की सेटिंग की जाती है जो कि Website Owner अपनी requirement के हिसाब से कर सकता है जैसे उसे अपनी साइट का views किस तरह से रखना है और किस तरह से अपने डेटा को यूजर के सामने present कराना है।
3सारी settings अपने हिसाब से करने के बाद save औरpublish करते ही AMP पेजेस की सेटिंग Website पर हो जाती है|

AMP pages full form क्या हैं ?

Accelerated Mobile Pages

खासतौर पर AMP pages किस प्लैटफ़ार्म के लिए डिज़ाइन किए गए हैं ?

मोबाइल फोन

AMP पेजेस का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता हैं ?

साइट की स्पीड बढ़ाने के लिए

क्या AMP पेजेस का SEO पर कोई फर्क पड़ता हैं ?

नहीं, लेकिन स्पीड बढ़ जाने के कारण इन वैबसाइट की वैल्यू रीडर की नज़रों में बढ़ जाती हैं|

AMP पेजेस पर रेवेन्यू कम आता हैं ?

ऐसा जरूरी नहीं हैं, AMP पेजेस पर एडसेंस के दूसरे तरह के कोड का इस्तेमाल किया जाता हैं जिससे वे साइट पर तेजी से अपलोड हो सकते हैं|

Other Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here