Meta description kya hota hai (SEO, length, meaning)| Meta description in SEO in Hindi

मेटा डिस्क्रिप्शन क्या है (टाइटल, टैग्स, कैसे बनायें, फायदे) (What is meta description in Hindi) (Title, Tags, Types, length checker, keywords)

क्या आपका Blog Post Google के search में Rank नहीं कर रहा है? हाँ, तो इसका Reason क्या है? क्या आप जानते है की Meta Description क्या है? Meta description कैसे करते है? Meta description कैसे लिखे? अगर आप इन सभी सवालों के जबाब को ढूंढ रहे है तो बिल्कुल सही जगह आये हो| इस Article में आपको Meta description kya hai इसके बारे में पूरी जानकारी दूँगा| Meta description आपके Blog Post के लिए बहुत Value रखता है|

- Advertisement -

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

Meta description का Use almost सभी Bloggers करते है फिर चाहे वे नए हो या पुराने| Google के अनुसार, Blog Post में Meta description का होना आपके Post को boost करने में काफी help करता है|

लेकिन बहुत से bloggers ऐसे है जो Meta description को proper तरीके से नहीं लिखते है| इसलिए search engine और SEO दोनों के लिए उनका performance अच्छा नहीं होता है| अगर आपके साथ भी ये same हो रहा है तो आपको ये article पूरा समझना होगा तभी आपके Blog की performance अच्छी होगी| तो चलिए सबसे पहले स्टार्ट करते है की Meta description kya hota hai| (Meta description Meaning In Hindi)

meta description kya hai hindi

Meta Description क्या है?

Meta description को मेटा डिस्क्रिप्शन एट्रिब्यूट या Tags भी कहा जाता है| Meta description किसी भी Users को Google के search engine में किसी Blogger के Post में दिखने वाला एक छोटा सा paragraph होता है जोकि बहुत Important माना जाता है| Meta description को Hyper Text Markup Language(HTML) पर लिखा जाता है|

HTML आपके पोस्ट के data के results को बहुत कम words में बताता है| जिससे Search Engine और Users दोनों को बहुत मदद मिलती है समय के साथ SEO search engine ranking की प्रक्रिया में भी बदलाव आये है|

अब Meta description Search Engine Ranking में उतनी महत्वपूर्ण भूमिका नहीं निभाता है, जितना पहले, लेकिन फिर भी On Page SEO में अभी ये Important है|Meta description आपके data को अच्छे से बताने में मदद करता है|

Meta description kya hai image

यह जानकारी Snippet code के रूप में search engine में आपके title के नीचे show होती है|

लेकिन इसमें गौर करने वाली बात ये है की अगर आपने Meta description नहीं दिया तब उस situation में search engine Snippet को main data के किसी भाग में से ले लेता है|

जिसका result ये होता है की Users तक आपके Blog Post की सटीक जानकारी नहीं जा पता है और साथ ही साथ आपका Post ranking में पीछे हो जाता है|

Meta Description कितने प्रकार के होते है?

अब आपने ये तो समझ लिया की Meta description kya hai अब जानते है की Meta description कितने प्रकार के होते है| Meta description मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते है|

  • Meta Tags  – Data की Main Heading के बारे में जानकारी उस टॉपिक के टाइटल से ही मिलती है|इसमें आप Main keywords को जरुर लिखें.
  • Meta description Tag – इसमें आप अपने data की विस्तृत रूप में जानकारी दे सकते है जिसमें Important keywords होते है|
  • Meta Robot Tag – Meta Robot Tag Google के Crawlers को invite करते है कि वे आये और आपके Blog Post को crawl करें|

किसी Web Page के Meta Description का कैसे पता लगायें?

आप किसी भी Web Page के Meta description को स्वयं आसानी से ढूढ़ सकते है|इसके लिए आपको किसी भी Web Page में Right click करना होगा, जिसके बाद एक menu bar खुलेगा|

यहाँ आपको view source या view page source पर click करना होगा|यहाँ New Page में code खुलेंगें, जिससे आपको Meta description की जानकारी मिल जाएगी|

Meta Description कितना लम्बा होना चाहिए –

Google ने अब Meta description की Standard लम्बाई को बढ़ा दिया है|पहले ये बहुत छोटा हुआ करता था|पहले Google के अनुसार, Meta description की लम्बाई 160 characters की या उससे कम होनी चाहिए थी| लेकिन Google ने अब इसे बढ़ा दिया है|अब Google Meta description में 275 Characters तक एक्सेप्ट कर शो करता है| यह बदलाव गूगल ने 2017 में किया है|

Meta Description क्यों जरुरी है?

Meta description के द्वारा आप Search Engine Optimization की नजर में अच्छी Rank बना सकते है|इसके द्वारा Search engine Post को तबज्जो देता है|

  • Meta description Organic Add Text की तरह होता है – इसका मतलब है कि जब आपका ऐड किसी keyword के लिए Rank करता है तो Google या दुसरे Search engine उस Blog के Meta description एक Summary की तरह से show करता है|
  • Meta description के द्वारा आपकी वेबसाइट में Organic search result के द्वारा click बढ़ सकते है| इसका मतलब है कि जब लोग आपके Page को search result में देखेंगें तो वो Meta को पढ़ कर आपकी Website पर click कर आपके data तक पहुँच सकते है|इससे आपका traffic बढेगा और आपकी वेबसाइट की Ranking में भी काफी फर्क पड़ता है|

SEO के लिए Meta description कैसे लिखे?

Meta description kya hai और ये क्यों important होता है? इसको समझने के बाद अब मै आपको बताता हूँ की Meta description कैसे लिखें|SEO के लिए Meta description लिखने के लिए पहले आपको अच्छा ऐड Text लिखने की Practice करनी होगी|उसके लिए मै आपको कुछ Tips बताऊँगा|जिसकी मदद से आप अपने Meta description को बेहतर बना सकते है –

  • आप अपने data से जुड़े हुए सभी जरुरी keywords को Research करके लिखें|
  • आपकी Website में हर Page के लिए Unique Meta लिखे, जो आपके data से भी Relative हो|अगर आपने गुमराह करने के लिए कुछ keywords लिखे हैं तो google समझ जायेगा और वो आपको पनिश भी कर सकता है|कोई भी User आपके Blog में Meta पढ़कर जाता है, लेकिन अगर उसे उससे जुडी जानकारी नहीं मिली तो वो तुरंत बाहर भी आ जायेगा|इससे आपकी साईट का Bounce Rate बढ़ जायेगा|
  • एक ही Meta को हर जगह उपयोग नहीं करें|इससे User Experience ख़राब होता है| Duplicate Meta description बनाने से अच्छा है कि आप उसे blank ही छोड़ दे| Google आपके Page data से Snippet के लिए कीवर्ड के अनुसार डाटा उठा लेगा| Duplicate Meta description से Negative Impact पड़ेगा|
  • याद रखें आपका Meta description बहुत लम्बा नहीं होना चाहिए| जितना गूगल एक्सेप्ट करता है उसी के अंदर रखें|
  • Meta description एक तरह का इनविटेशन होता है यूजर को अपनी साईट में बुलाने का, वो जितना अच्छा और impressive होगा|आपके Blog में उतने ही अधिक Users आयेंगें|
  • यह प्रत्यक्ष रूप से सक्रिय, प्रेरित और संबोधित करने वाला होना चाहिए| जब Users आपकी साईट में आये तो उसे पहले ही पता हो कि उसे क्या मिलने वाला है|
  • Meta description में Focus और जरुरी keywords को जरुर लिखें| इससे सर्च इंजन इसको read करके आपकी साईट तक पहुँच जायेगा|

एक से ज्यादा पेज के लिए मेटा डिस्क्रिप्शन कैसे बनाये –

अगर आपकी Website बड़ी है, और हर पेज के लिए आपके पास Meta description बनाने का समय नहीं है|तो आप प्राथमिकता के अनुसार Page को चुन कर उनमें Meta description बना सकते है|जैसे Homepage या आपकी Website में Popular Pages, इसके अलावा आप Google पर search करें कि आपके किस Page की Ranking अच्छी है| उसमें Meta description जरुर add करें|और ध्यान रखें अब से जो New Post करते है उसमें जरुर से Meta description ऐड करें| जिससे SEO के अनुसार Website आपकी अच्छी होती जाएगी| और बाद में आपको अलग से work नहीं करना होगा|आशा करता हूँ की अब आपको समझ में आ गया हो गया कि Meta description kya hai|

FAQ –

Q: मेटा डिस्क्रिप्शन में क्या लिखना चाहिए?

Ans: डाटा से जुड़े सभी कीवर्ड, एक तरह से डाटा की समरी|

Q: मेटा टाइटल और डिस्क्रिप्शन क्या होता है?

Ans: ये वेब पेज के हैडर होते है, जो सर्च इंजन की मदद करता है डाटा समझने में. सर्च रिजल्ट में मेटा टाइटल और डिस्क्रिप्शन शो होता है|

Q: क्या मेटा डिस्क्रिप्शन बाद में बदला जा सकता है?

Ans: जी हाँ

Q: क्या मेटा डिस्क्रिप्शन कंटेंट के समान ही होना चाहिए?

Ans: नहीं, मेटा डिस्क्रिप्शन कंटेंट जैसा बिलकुल नहीं होना चाहिए| मेटा डिस्क्रिप्शन ओवरआल व्यू होता है किसी भी पोस्ट का, यहाँ सिर्फ जरुरी कीवर्ड ही आने चाहिए|

Other links –

- Advertisement -

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

Black Friday Deal

Additonal discount code:- SEOPAVAN

Latest articles

Similar articles

1 COMMENT

  1. बहुत अच्छे लेख है सर्। meta decription के पूरे concept clear हुआ है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here