Web Crawling क्या है?

दोस्तों क्या आप अपनी website को google के SERPs के first पेज rank कराना चाहते है? लेकिन क्या आप जानते है कि इसकी basic प्रक्रिया क्या है? नहीं, मै आपको बताता हूँ इसकी basic प्रक्रिया है Web Crawling| अब आप सोच रहे होंगे कि Web Crawling क्या है? Web Crawlers कैसे Work करते है? तो आपके इन सभी सवालों का जबाब मै अपने इस आर्टिकल में दूंगा| 

जैसे कि आप जानते ही है कि 2021 में Internet की दुनिया इतनी बड़ी हो गयी है जिसकी कोई limit नहीं है| जिससे हर दिन internet पर लाखो की संख्या में searches होते है फिर चाहे वो Google पर हो या Bing पर हो| इन सभी search इंजन का algorithm अलग अलग तरीके से work करता है| 

Web Crawling kya hai?
- Advertisement -

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

अगर आप एक blogger है तो Google आपके blog के लिए सबसे best है| लेकिन क्या आप जानते है कि Google को आपकी website के बारे के कैसे पता चलेगा | उसके लिए सबसे पहले आपको एक website बनानी होगी| वेबसाइट बनाने के लिए आपको Domain और Hosting purchase करना होगा| फिर उस वेबसाइट को Google में submit करना होगा| 

Google में जब आप अपनी website को submit करते है| तो Google सबसे पहले आपकी वेबसाइट की Crawling करता है| Crawling में Google को आपके Content के बारे में पता चलता है| उसके बाद आपकी वेबसाइट Google Search Engine के SERPs पर धीरे धीरे Rank करना start करती है| 

अगर आप proper तरीके से Web Crawling को समझना चाहते है तो आप मेरे इस article को end तक पढ़ना| ये article आपके बहुत काम आने वाला है क्योकि इसमें मै आपको बताऊँगा की Web Crawling kya hota hai, SEO में Web Crawling का क्या Role है, Web Crawlers कैसे Work करते है और Google के कौन से Ranking Factors Crawling को Affect करते है| तो चलिए सबसे पहले start करते है की Web Crawling Kya Hai In Hindi| 

Web Crawling क्या है? (What Is Web Crawling)

जब कोई internet user गूगल के search engine पर कोई topic search करता है तब Google के bots, Google server के database पर store उस topic से सम्बन्धित updated और New Web Pages को खोजना start कर देते है| और उस topic से related सबसे relevant topic को users के सामने show करते है| इस प्रक्रिया को ही Web Crawling कहते है| और जो जानकारी search करते है उन्हें Web Crawler, Spider या Bots कहा जाता है| 

दूसरे शब्दों में कहा जाये तो Crawling का मतलब होता है की एक particular मार्ग को follow करना| आप अपने website के वेब pages में जो internal linking और External linking करते है तो Google के Web Crawler उन links के जरिये आपके सभी वेब pages को crawl करता है| और फिर उनकी Indexing करता है| Indexing होने के बाद आपकी वेबसाइट SERPs पर rank करना start करती है| 

अगर आप एक new blogger है तो आपकी वेबसाइट slow rank करेंगी |  इसलिए आपको अपने वेबसाइट के लिए Sitemap जरूर बनाना चाहिए| क्योकि इसमें आपकी website के सभी वेब pages के links होते है| और sitemap के जरिये Google आपके Website के वेब pages को आसानी से crawl कर लेता है|    

क्या आपको मालूम है की वेब Crawlers की Specialty क्या है? नहीं, मै आपको बताता हूँ| Web Crawlers की specialty ये है कि ये HTML Code और Hyperlinks को आसानी से validate कर सकते है| 

SEO में Web Crawling का क्या Role है?

Bloggers के लिए SEO की दुनिया बहुत बड़ी है| SEO का पूरा नाम है search engine optimization| लेकिन SEO में web crawling भी बहुत जरुरी है| 

आइये जानते है कैसे? अगर आप अपने Website पर Organic traffic चाहते है तो सबसे पहले आपको Google में अपने सभी web pages की Crawling करानी होगी| तभी आपकी website SEO के लिए ready मानी जाएगी| क्योकि website को rank कराने के लिए Crawling पहला step है| 

अगर आपके वेब pages की crawling अच्छे से होगी तभी आप अपनी website का On Page SEO और Off Page SEO कर सकते है| यदि आप किसी web page की crawling नहीं कराना चाहते तो आप उसमें No Index Meta Tag को उपयोग कर सकते है| आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की Web Crawling में SEO और Crawlers दोनों एक साथ चलते है|  

Web Crawlers कैसे Work करते है?

अभी आपने जाना की Google Crawling kya hai और SEO में Web Crawling का क्या Role है| अब मै आपको बताता हूँ कि Web Crawlers कैसे काम करते है| जैसे की आप जानते है कि Blogging सबसे ज्यादा important क्यों है? पैसे कमाने के लिए| और Corona के बाद घर पर रह कर पैसे कमाने का सबसे अच्छा तरीका भी blogging ही है| 

इसलिए Google पर दिन प्रतिदिन New Websites की संख्या बढ़ती ही जा रही है| और हर blogger चाहता है की उसकी website गूगल के SERPs पर top पर Rank करें| शायद आप भी यही चाहते होंगे की आपकी Website भी top पर rank करे| क्योकि website की Ranking जितनी अच्छी होगी उतना ही visitors के आपके web pages पर visit करेंगे| 

जब बहुत सारे bloggers अपने अपने website को Google Search Engine पर Submit करते है और उसमे new web pages को add करते है| इसके साथ ही पुराने pages को update करते है तो ऐसे में Web Crawlers की जिम्मेदारियाँ बढ़ जाती है| क्योकि web crawler crawling की प्रक्रिया एकदम basic से start करते है| 

इस प्रक्रिया में Web crawler search queries के आधार पर bloggers द्वारा Google Search Console पर submit किये गए सभी web pages के URL को उस query के according सबसे relevant pages को आपस में match करता है| 

आइये इसे मै आपको एक example के द्वारा समझाता हूँ| माना की किसी User ने search engine पर टाइप किया की White hat SEO क्या है? उसके बाद तुरन्त Web Crawlers white hat SEO से related web pages के Meta Description, Heading (H1, H2), Hyperlink, Passage Indexing आदि में search करने लगते है| जो Web pages white hat SEO के topic से एकदम relevant होते है| Google उन्ही को user को दिखाता है| 

Web Spiders के पास किसी भी web page को Crawl करने के लिए बहुत ही काम समय होता है| इसलिए आपको अपने Content को Simple लेकिन meaningful लिखना चाहिए|

Web Crawlers किसी भी website के वेब pages को Crawl एक particular policy के अनुसार करते है| और एक बार किसी वेब page की Crawling करने के बाद फिर कब उस updated web page की crawling करनी है ये सब policy में पहले से ही तय होते है| 

Ranking Factors Crawling को कैसे Affect करते है?

आप ये तो बहुत अच्छे से जानते होंगे कि Google पर millions of websites मौजूद है| लेकिन क्या सभी websites Google के Crawling और Indexing से satisfied है? नहीं!! आपको ये जानकार हैरानी होगी की अधिकांश bloggers 8 या 9 महीने बाद ही blogging करना बंद कर देते है| क्या आपको इसका reason पता है? नहीं, मै आपको बताता हूँ| 

वें bloggers blogging करना इसलिए बंद कर देते है क्योकि उनकी websites search engine result page पर rank ही नहीं कर पाती है| 

ऐसा आपकी website के साथ न हो इसलिए मैने यहाँ Google के कुछ important factors के बारे में बताया है| आइये जानते है वो Ranking Factors कौन से है| 

1. Internal Linking

Internal Linking को deep Linking भी कहा जाता है| क्योकि अगर आप एक ही article में same anchor text का use करते है इससे web crawlers को आपके website को deep crawling करने में बहुत help मिलती है| 

अपने website के web pages में Internal linking करना एक SEO के लिए बहुत सही है| इसलिए जरिये आप users को भी अपने वेब pages पर लम्बे समय के लिए रोक सकते है| इससे आपके वेबसाइट का bounce rate भी कम रहेगा| क्योकि जब users एक page से दूसरे page और दूसरे से तीसरे पेज पर जाते है तो इससे आपकी Website की ranking increase होती है| 

ये सब वेब crawling की वजह से possible हो पाता है| लेकिन इस बात का जरूर ध्यान रखे की एक पेज पर ज्यादा internal linking न करें| 

2. Backlinks

Backlinks आपके website को search engine की नजर में reputable और trustworthy बनाते है| क्योकि जिंतने ज्यादा आपके पास backlinks होंगे उतने ही ज्यादा आपकी website की value बढ़ती है| 

यदि आपकी website google के search engine result page पर अच्छे से rank कर रही है| लेकिन आपकी website में कोई backlinks नहीं है तो इससे आपकी website का search engine पर गलत impact पड़ता है| क्योकि Search Engine का यह मानना है की जिन website में backlinks नहीं होती है| वे low quality content वाले article होते है|  

3. XML Sitemap

जब आप WordPress में अपने Website को set करते है तो आपको एक XML Sitemap use करने के लिए कहा जाता है| जिससे आपका Sitemap auto generate हो पाये| WordPress में जब एक बार आप XML Sitemap बना लेते है तो उसके बाद यह automatic update होता रहता है| 

और इस तरह Google को पता चलता है की आपकी Website update कर दी गयी है| उसके बाद Web crawlers sitemap को crawl करते है|    

4. Robots.txt 

जब आप अपने Website के किसी Web page को Web hosting के server पर host करते है| तो उसकी एक Robots.txt file तैयार की जाती है| इस file को Web crawlers या bots को निर्देश देने के किये बनाया जाता है| 

Neil Patel के अनुसार Bots के जरिये ही crawling का काम होता है| आइये इसे मै आपको आसान भाषा में समझाता हूँ| अगर crawler को web hosting के server में robots.txt file मिलती है तो वह content को उसके आदेश के अनुसार crawl करता है| और अगर robots.txt file नहीं मिलती है तो फिर वह अपने अनुसार crawling करता है|  

निष्कर्ष: Web Crawling क्या है?

उपरोक्त Post “Web Crawling kya hai?” में आपने जाना कि Web Crawling kya hota hai, Web Crawlers कैसे Work करते है, SEO में Web Crawling का क्या Role है? आदि| जब आप अपनी website को Google के Ranking Factors के अनुसार optimize करते है तो Google आपकी Website के web pages को faster और accurately Crawl करता है| 

अगर आप चाहते है कि आपका Content meaningful हो औरआपके competitors से अलग लगे तो आपको एक perfect niche की जरूरत है| एक perfect Niche चुनने में google question hub आपकी help कर सकता है| जब आपके web pages का crawling का work खत्म हो जाता है| तब Indexing का काम start होता है| 

मैने अपने research में देखा है की बहुत से new bloggers को अपने pages की Crawling कराने में थोड़ी problem होती है| लेकिन उनसे में कहना चाहूँगा की crawling इतना tuff नहीं है जितना उन्हें लगता है| 
Web crawling क्या है? अगर मै इसे एक simple sentence में कहुँ तो जब google के bots आपकी website पर tracking purpose से आते है तो यह process Google के crawlers द्वारा पूरा होता है|

- Advertisement -

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

Black Friday Deal

Additonal discount code:- SEOPAVAN

Latest articles

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here