SEO क्या है? और अपने ब्लॉग का SEO कैसे करें?

2

क्या आप एक successful blogger बनना चाहते हैं? क्या आप अपनी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करना चाहते हैं? यदि हाँ, तो आपके लिए यह जानना बहुत जरुरी है की SEO क्या है और यह क्यों जरुरी है| जिससे आप अपने blog का SEO सही तरह से कर पाएं|

क्या आप जानते हैं की हर रोज Google पर लगभग 40 लाख से भी ज्यादा ब्लॉग पोस्ट होते है| जिनमे से मात्र 10% ही ब्लॉग पोस्ट Google पर rank कर पाते हैं| और उनमे से भी मात्र 1% ही Google के 1st पेज पर rank कर पाते हैं| तो दोस्तों competition बहुत ज्यादा हाई है पर नामुनकिन नहीं हैं|

SEO Kya Hai

अगर आप hard work के साथ smart work भी करते हैं तो यह आपके लिए बहुत आसान हो जायेगा। कैसे?

आज मैं आपको इस article में SEO से related बहुत महत्वपूर्ण जानकारियां दूंगा जो आपने कही भी नहीं पढ़ी होगी| यह जानकारियां मैं खुद आपने अनुभव के आधार पर आपके साथ साझा करने जा रहा हूँ| जैसे SEO kya hai, सही SEO kaise kare, on-page, off-page technical seo, keyword research, आदि| तो यह बहुत जरुरी है की आप पूरा आर्टिकल बहुत ध्यान से पड़े और समझे|


चलिए पहले समझते हैं की SEO Kya Hai|

SEO क्या है (What Is SEO In Hindi)

SEO (Search Engine Optimization) गूगल के 200 से भी ज्यादा ranking factors का एक मिला जुला रूप है| जिससे Google यह निर्धारित करता है की कौन सा आर्टिकल सबसे पहले और कौन सा सबसे बाद में दिखाया जाये|

SEO की Full Form क्या है?

SEO का Full From "Search Engine Optimization" है|

हिंदी रूपांतरण: सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

क्या आप SEO के जरिये केवल Google पर ही Rank कर सकते हैं?

नहीं, यह बात एक दम ही गलत है| अगर आप अपने आर्टिकल का SEO अच्छे से करते हैं तो आप Google के alternatives जैसे Yahoo, Bing, Yandex के अलावा 15 और Search Engines पर भी rank कर सकते हैं|भले ही इन सर्च इंजन पर आपको ट्रैफिक कम मिलेगा पर मिलेगा जरूर|

क्या आप अभी भी नहीं समझ पाए की SEO Kya Hai? तो चलिए मैं आपको एक उदाहरण के साथ समझाने की कोशिश करता हूँ|

मान लीजिए आपने Google पर एक keyword search किया की “SEO kya hai” अब Google कुछ search results आपको recommend किये|

SEO Example
SEO Example

जो result No.1st पर rank कर रहा है उसने बहुत अच्छे से अपने कंटेंट को SEO optimize किया है| जिससे जब कोई भी व्यक्ति “SEO kya hai” सर्च करता है तो इस कंटेंट को सबसे अच्छा मानकर Google आपको दिखायेगा|

मुझे लगता है की अब आप SEO के बारे में थोड़ा बहुत समझ गए होंगे| और नहीं भी समझ पाए होंगे तो आगे पढ़ने पर आप जरूर समझ जायेंगे


SEO क्यों आपके Blog Post के लिए जरुरी है?

अगर आप बिना तयारी के एग्जाम देंगे तो क्या आप कभी भी पास हो पाएंगे? नहीं न, इसीलिए किसी भी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए SEO बहुत जरुरी होता होता है

जब कोई भी व्यक्ति गूगल पर कुछ भी सर्च करता है तो Google उस search query आधार मानकर जिस भी ब्लॉग पोस्ट में इससे संभंधित सूचनाएं अच्छे तरह दर्शाई गई हों उसे सबसे पहले दिखाता है|सिर्फ उस विषय के बारे में लिखना ही महत्वपूर्ण नहीं होता| उसे इस तरह से लिखा जाना चाहिए जिससे Google उसके अर्थ को अच्छे से समझ सके|

SEO को सीखना कोई पहाड़ तोड़ने जितना बड़ा काम नहीं है आपको बस कंटेंट लिखते टाइम कुछ इम्पोर्टेन्ट चीजें ध्यान में रखनी है जो मैं आपको आगे बताने वाला हूँ| एक बार अगर आपने SEO को अच्छी तरह से सीख लिया तो आप सिर्फ अपना ब्लॉग ही नहीं बल्कि दूसरों की भी मदद कर सकते हैं ब्लॉग रैंक करवाने के लिए|

यह सोचने की बिलकुल भी भूल मत करियेगा की SEO सीखने के तुरंत बाद आप कोई कंटेंट लिखे और वह रैंक हो जाये| आपको इसकी प्रैक्टिस भी करनी होगी तभी आपको long term में अच्छे results मिलेंगे|

चलिए SEO (Search Engine Optimization) के महत्त्व को थोड़ा और गहराई से समझने की कोशिश करते है|

  • Google पर ज्यादातर लोग अपने प्रश्नो के उत्तर जानने के लिए सर्च करते है ऐसे में अगर आपका ब्लॉग उन रिजल्ट्स में से सबसे ऊपर रैंक करता है तो आपके ब्लॉग पर क्लिक करने के chances 31.7 % बढ़ जायेंगे|
  • Organic search results 100% SEO पर ही निर्भर करता है| सभी search engines SEO के द्वारा ही चुनाव करते है की कौन सा रिजल्ट यूजर को पहले दिखाया जाये जिससे उसे सन्तुष्ट किया जा सके|
  • हमेशा सर्च रिजल्ट्स में No. 1st पर रैंक करने से यूजर वेबसाइट को एक trusted brand की तरह मानने लगता है| इसीलिए अगर आप किसी कीवर्ड पर No. 2nd पर भी रैंक कर रहें हो तो वह आपके रिजल्ट पर ही क्लिक करेगा|
  • अगर आपकी वेबसाइट गूगल पर No.1st पर रैंक और अगर आपके कंटेंट में दम है तो user उसे सोशल मीडिया पर भी शेयर करता है जिससे आपकी social media जैसे Facebook, Twitter, और Instagram पर following बढ़ती है|
  • यह जाहिर सी बात है की अगर आपका ब्लॉग गूगल पर टॉप पर रैंक करता है तो आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक भी बहुत बढ़ जायेगा|
  • यदि आप अपनी वेबसाइट पर कोई सामान बेच रहे है और उसके लिए आपके एक बेहतरीन SEO optimize ब्लॉग पोस्ट लिखा है तो रीडर द्वारा उस सामान को खरीदने के chances बहुत बढ़ जाते है|

आपको लग रहा होगा की क्या Google के लिए सिर्फ SEO ही जरुरी है|

लेकिन ये गलत है| आप SEO करके टॉप पर तो रैंक कर जायेंगे लेकिन अगर आपके कंटेंट में दम नहीं है तो गूगल धीरे धीरे आपके ब्लॉग पोस्ट की रैंकिंग घटाने लगता है|यह Google आपके रीडर द्वारा प्राप्त होने वाले डाटा के आधार पर करता है| इसीलिए SEO के साथ साथ आपको आपने content की quality पर भी ध्यान देना होगा|

चलिए अब SEO के प्रकार को समझने की कोशिश करते हैं|


Types Of SEO In Hindi (3 महत्वपूर्ण प्रकार)

क्या आपको भी अब तक यही पता था की SEO के केवल दो हो प्रकार होते है on-page और off-page?

यह जानकारी गलत भी है और सही भी, कैसे?

लगभग 7 से 8 साल पहले SEO के 2 प्रकार थे पर जैसे जैसे Google ने अपने आप को अपग्रेड किया वैसे वैसे SEO के नए प्रकार भी आते गए| अभी वर्तमान में SEO के 3 प्रकार है:

  1. On-Page SEO
  2. Off-Page SEO
  3. Technical SEO

पर अभी भी कुछ लोगों को SEO के केवल दो ही प्रकार के बारे में पता है| हालाँकि वह technical SEO के बारे में जानते तो होंगे पर इन्हें SEO के प्रकार नहीं मानते है|

मैं यह मानता हूँ की On-Page और Off-Page SEO सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है पर technical SEO के बिना आप Google के No. 1st result पर रैंक कर ही नहीं सकते हैं| तो इसीलिए technical SEO भी बहुत जरुरी हैं|

तो चलिए सबसे पहले समझते हैं की On-Page SEO Kya Hai और इसे कैसे करें|


On-Page SEO क्या है?

On-Page SEO kya hai (What is On-Page SEO In Hindi) यह इस बात से ही प्रतीत होता है की यह आपके पूरे SEO का लगभग 50% भाग होता है| जो Google के bots को बताता है की आपका ब्लॉग पोस्ट किस विषय पर आधारित है और यह रैंक करने लायक है अथवा नहीं|

On-Page SEO के अंतर्गत आपको Google द्वारा recommended कुछ जरुरी नियमों का पालन करना पड़ता है जो आपकी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करने में मदद करता है और आपका ट्रैफिक बढ़ाता है|साथ ही में user experience को सुधारने में भी मदद करता है|

आज भी बहुत से शुरुआती bloggers को On Page SEO की ज्यादा जानकारी नहीं है वह सिर्फ keyword research और उसे place करने को ही On Page SEO समझते हैं| जबकि On Page SEO में और भी बहुत सारी चीज़ें शामिल होती है जैसे, image SEO, quality content, internal linking, URL structure, आदि|

On Page SEO kaise kare? अगर आप इस सवाल का जवाब चाहते हैं तो आपको इन चीजों को भी अपने On-Page SEO में शामिल करना होगा| तो चलिए देखते हैं की यह महत्वपूर्ण चीजें कौन सी हैं?

On Page SEO कैसे करें: 5 महत्वपूर्ण चीजें

वैसे तो On Page SEO करते समय बहुत सारी चीजों को शामिल किया जाता है पर यहां मैं आपके साथ 10 महत्वपूर्ण चीजों को साझा करूँगा| जिसके बिना On Page SEO अधूरा होता है|

1. Keyword क्या है?

इंटरनेट पर Search की जाने वाली हर query एक keyword होता है| साधारण बोलचाल की भाषा में तो keyword का प्रयोग किसी वाक्य के सम्पूर्ण अर्थ को समझने में किया जाता है| परन्तु SEO या Blogging industry में keyword का मतलब वह शब्द है जिसे आप और हम गूगल पर कुछ सर्च करने के लिए टाइप करते हैं|अगर अब आपसे कोई पूछे की keyword क्या है तो बिंदास बता देना|

जो भी ब्लॉग पोस्ट उस keyword के लिए अच्छे से optimize होता है उसे गूगल अपने Search Engine Result Page (SERP) में टॉप पर दिखता है|

चलिए मैं उदाहरण के साथ आपको समझाता हूँ|

अगर आप Google पर कुछ सर्च करना चाहें तो कैसे करेंगे? सबसे पहले आप Google को open करेंगे और उसमें search करेंगे जैसे ” keyword kya hai” या ” keyword kaise use kare”|यही दोनों आपके keyword कहलायेंगे|

Note: अगर आप एक शुरुआती ब्लॉगर है तो हमेशा Long tail keyword को ही टारगेट करें आप जरूर rank करेंगे|

2. Image SEO क्या है?

Image SEO एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत आपको अपने blog post पर प्रयोग किये गए Images और graphics को इस तरह से optimize करना पड़ता है जिससे search crawler bots उसे आसानी से पहचान सके|

इसे समझने का सबसे आसान तरीका यह है की जिस keyword को आप टारगेट कर रहें हैं उसे Google पर सर्च करिये और image section में जाकर starting की 4 इमेजेज को डाउनलोड कर लीजिये|

Image SEO kya hai
Image SEO kya hai

अब देखिये की उसके फाइल नाम में कौन सा कीवर्ड कैसे डाला हुआ है|

image ko seo friendly kaise banaye
image ko seo friendly kaise banaye

आप वही या उससे मिलता जुलता keyword आपने images में भी डाल सकते हैं जिससे आपकी इमेजेज Google Image Search में rank करने लगें|

उसके बाद अपने कंटेंट में image add करिये| फिर जब पूरी तरह से image add हो जाये तब आपको एक और काम करना पड़ेगा | आपको image को alt text देना होगा, घबराइए मत ये बहुत आसान काम है|

alt tags kaise kare
alt tegs kaise kare

सबसे पहले image पर क्लिक करें और सेटिंग का ऑप्शन खोल लें| वहीँ पर नीचे आपको alt tegs (Alternative text) दिख जायेगा|

3. High Quality Content क्या है?

High Quality Content का मतलब reader को इस तरह से कंटेंट डिलीवर करना है जिससे सभी चीजें उसके समझ में आ सके| और वह आपकी website के साथ कनेक्ट हो सके| अगर आपके रीडर को आपका कंटेंट अच्छे से समझ आ जाता है तो ज़ाहिर सी बात है की वह आपका पूरा ब्लॉग पड़ेगा| यह SEO से सीधा कनेक्ट तो नहीं होता है पर इसका आपकी सर्च रैंकिंग में बहुत फर्क पड़ता है|

आपने सुना ही होगा की “Content is king” पर मेरी नज़र में “Quality content is king” है| अगर आपके कंटेंट में क्वालिटी नहीं है तो वह सिर्फ कुछ टेक्स्ट होता है जिसे कोई भी पड़ना पसंद नहीं करता हैं|

इसीलिए हमेशा रीडर की संतुष्टि के लिए कंटेंट लिखिए गूगल की संतुष्टि के लिए नहीं| आज नहीं तो कल गूगल आपके कंटेंट को बिना किसी SEO के रैंक करने लगेगा| क्योंकि Google अपने यूजर को हर चीज़ से ऊपर रखता है|

एक क्वालिटी कंटेंट लिखने के लिए आप दूसरों का ब्लॉग पड़ सकते हैं उसे समझने की कोशिश कर सकते हैं क्योंकि क्वालिटी कंटेंट लिखने का कोई नियम नहीं हैं वह आप सिर्फ अच्छी प्रैक्टिस से ही सीख सकते हैं|

4. Internal और External Linking क्या है?

Internal और External Linking On Page SEO का एक महत्वपूर्ण भाग हैं जिसमे आप अपनी वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट और दूसरी वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट को एक hyper link के जरिये आपस में जोड़ते हैं|

तो चलिए समझते हैं पहले internal linking क्या होती है और इसे कैसे करते हैं|

internal link kya hai

Internal linking एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत आप अपनी वेबसाइट के एक ब्लॉग को दूसरे ब्लॉग के साथ एक link के द्वारा जोड़ते हैं| यह Google bots को आपके दूसरे ब्लॉग पोस्ट को ढूंढ़ने में मदद करता है|

चलिए एक उदाहरण के साथ में आपको समझने की कोशिश करता हूँ|

मान लीजिये की आपने अपनी वेबसाइट में २ ब्लॉग पोस्ट लिखे जिसमें से केवल एक ही Google पर index हो पाया लेकिन दूसरा index होने से रह गया| अगर आपने आपने index हो चुके ब्लॉग पोस्ट में दूसरे वाले ब्लॉग पोस्ट को internal Link दी होगी तो Google उसे अपने आप ही index कर लेगा|

External Linking एक जाल की तरह काम करती है| इसके अंतर्गत जब आप अपना कोई आर्टिकल लिखते समय किसी दूसरी वेबसाइट के ब्लॉग को पढ़कर उससे सूचनाएं एकत्रित करके अपने ब्लॉग में लिखते हैं तो आप उस ब्लॉग पोस्ट को एक hyper link के जरिये mention कर सकते हैं|

External link kya hota hai

यह करना जरुरी तो नहीं है पर अगर आप करते हैं तो इससे Google को लगता है की आपने अपना आर्टिकल बहुत रिसर्च करके लिखा है| और इससे आपको search ranking में भी मदद मिलती हैं|

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

5. Header Tags क्या है?

Header Tags आपके headings or sub headings का एक मिला जुला रूप है जो H1 से लेकर H6 तक होता है| H1 header tag सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह आपके आर्टिकल का Title होता है| जिसमें आपको अपने focus keyword को add करना होता है जो Google के bots और reader दोनों को यह बताता है की आपका ब्लॉग पोस्ट किस विषय पर है|

इन header tags का प्रयोग एक क्रमबद्ध तरीके से करना होता है जैसे:

<H1>President</H1>
<H2>Prime Minister<H2>
<H3> Chief Minister<H3>
<H4>MP<H4>
<H5> MLA<H5>
<H6>Party Worker<H6>

यह पांचों On Page SEO के बहुत महत्वपूर्ण भाग है जिससे आपकी search ranking पर काफी फर्क पड़ता है|चलिए अब Off Page SEO के बारे में समझते हैं की Off Page SEO Kya Hai इसे कैसे करते हैं?

  • Yoast or Rank Math दोनों On Page SEO के लिए एक दम बेहतरीन SEO plugin हैं जो आपके कंटेंट को analyze करके आपको बताता है की इसमें क्या सुधार किया जा सकता है|

Off Page SEO क्या है?

Off Page SEO को Off Site SEO भी कहते हैं जो एक ऐसी तकनीक है जो On Page SEO से बिलकुल अलग होती है|जैसे On Page SEO आप अपनी वेबसाइट पर रहकर करते हैं वैसे ही Off Page SEO आपको अपनी वेबसाइट से बाहर रहकर करना पड़ता है|

लेकिन यह आपके blog post को रैंक कराने में बहुत मदद करती है|इसमें आपको अपना आर्टिकल लिखने के बाद उसे support करने लिए उस पर initial traffic भेजना पड़ता है और backlinks बनानी पड़ती है|

इससे Google को एक अच्छा signal जाता है की ट्रैफिक के लिए आप केवल Google पर ही निर्भर नहीं हैं| और जगहों से भी आपको ट्रैफिका आता है|बहुत सारे bloggers Off Page SEO को सिर्फ link building ही समझते हैं जबकि off page में और भी बहुत सी महत्वपूर्ण आती हैं|

Off Page SEO कैसे करें: 4 महत्वपूर्ण चीजें

दोस्तों अगर आप सीखना चाहते हैं की Off Page SEO कैसे करें तो आपको नीचे दी गई जानकारी को अच्छे से पड़ना पड़ेगा|

1. Brand Building क्या है

Brand Building SEO का एक महत्वपूर्ण भाग है जिसमें आप अपनी वेबसाइट को एक brand बनाने का काम करते हैं| Google search में brands की अलग ही पहचान होती है| अगर आपने अपनी वेबसाइट को एक ब्रांड बना लिया तो आपको किसी प्रकार के SEO की जरुरत नहीं है आप जैसा भी कंटेंट लिख देंगे वह Google में अच्छी position पर रैंक करने लगेगा| इसे Google brand awards भी कहते हैं|

लेकिन यह करना काफी मुश्किल होता है इसके लिए आपको लोगों को अपने वेबसाइट के विषय में जागरूक करना पड़ता है| जिससे जब भी उन्हें किसी चीज़ की जरुरत हो वह उसे Google में डालने की बजाए आपकी वेबसाइट का नाम डालकर पहले आपकी वेबसाइट पर आये उसके बाद उस चीज़ का नाम आपकी वेबसाइट पर सर्च करें|

धीरे धीरे Google यह नोटिस करने लगता है की आपकी वेबसाइट एक ब्रांड है और यह इस विषय से समन्धित है|इसका जीता जगता उदाहऱण आपके सामने है Amazon और Flipkart| गूगल इन दोनों वेबसाइट को एक ब्रांड मानता जिसकी वजह से बिना किसी SEO के भी इसके products Google में आसानी से रैंक कर जाते हैं|

2. Content Marketing क्या है

अपने content को promote करने के लिए दूसरे ऑनलाइन प्लेटफार्म पर किये गए काम को ही Content Marketing कहते है|कंटेंट मार्केटिंग दोनों ही On Page और Off Page SEO में use की जाती है जिससे लोगों को ज्यादा से ज्यादा आपकी वेबसाइट के विषय के बारें में पता चल सके|

जब आप अपनी वेबसाइट पर SEO का पूरा ध्यान रखते हुए एक अच्छा कंटेंट पब्लिश करते हैं तो उसे On Page content marketing कहते हैं|

और जब आप अपनी वेबसाइट के कंटेंट को promote करने के लिए किसी भी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर काम करते हैं तो उसे Off page content marketing कहते हैं|

जैसे मान लीजिये की आपका एक ब्लॉग है deepawaliseotips.com और उसे प्रमोट करने के लिए आप YouTube चेंनल खोल दिया है तो उसे कंटेंट मार्केटिंग ही कहा जायेगा|

3. Influencer Marketing क्या है

Online marketing के अंदर आपको marketing करने के बहुत सारे तरीके मिल जाते हैं और influencer marketing उन में से सबसे बेहतरीन तरीका हैं| जिसके अंदर आप अपने brand या product को promote करने के लिए किसी कंपनी के बजाये ऐसे व्यक्ति को पैसे देते है जिसके पास आपके industry से related काफी audience होती है| इस वजह से उसका conversion काफी बढ़ जाता है|

यह SEO करने का सबसे बेहतरीन तरीका जिससे आप अपनी वेबसाइट को प्रमोट कर सकते हैं इसीलिए इसे मैंने Off Page SEO में शामिल कर लिया है|

क्या आप अभी भी कंफ्यूज हैं की influencer marketing क्या है? तो चलिए एक आसान उदहारण के साथ में आपको समझने की कोशिश करता हूँ|

अब मान लीजिये की आपकी एक online marketing की वेबसाइट है और उसमें आप Yoast plugin को प्रमोट कर रहें हैं|और आप अपने इस ब्लॉग पोस्ट पर targeted traffic लाना चाहते है जिसके लिए आपको ऑनलाइन मार्केटिंग से रिलेटेड influencers ढूंढ़ने पड़ेंगे चाहे कोई प्लेटफार्म हो जैसे Instagram, YouTube , Facebook आदि|

4. Backlinks क्या है

जब कोई वेबसाइट आपके ब्लॉग पोस्ट की लिंक को अपने ब्लॉग पोस्ट में एक hyperlink के जरिये जोड़ लेती है तो उसे Backlink कहते हैं| जो off page seo के लिए एक रीढ़ की हड्डी के जैसे काम करती है और आपकी वेबसाइट को रैंक करने में मदद करती है|कुछ लोग इसे Link building भी कहते है|

मुझे पता था की आप यही सोच रहे होंगे की तो फिर मैंने backlink को सबसे नीचे क्यों रखा है| वो इसिलए क्योंकि 90% bloggers केवल बैकलिंक को ही off page seo का हिस्सा मानते है जबकि उसमें और भी काफी चीजें आती है जिसका मैंने थोड़े शब्दों में ऊपर बतया है|

मुझे पता है की backlinks seo में बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे आपकी वेबसाइट का DR (Domain Score), authority, trust, और overall आपके वेबसाइट की सर्च रैंकिंग बढ़ जाती है|

लेकिन यह backlink तभी कारगर सिद्ध होतें है जब आप किसी ऐसी वेबसाइट से बैकलिंक लें जो Google की नज़र में काफी अच्छी और बड़ी वेबसाइट हो|

तो चलिए अब समझते हैं की Technical SEO Kya Hai और इसे कैसे करें|

Technical SEO क्या है

किसी भी वेबसाइट का टेक्निकल SEO उसके कंटेंट से एकदम अलग होता है जिसमें आप अपने वेबसाइट को Google के लिए आसान बनाते हैं| जिससे Google आपकी वेबसाइट को जल्दी से जल्दी Crawl कर ले|

किसी भी वेबसाइट के technical seo में काफी पेचीदा टेक्निकल चीजें आती है जिसे शुरुआती bloggers बिलकुल भी नहीं समझ सकते हैं| इसीलिए technical SEO को सीखना बहुत महत्वपूर्ण होता है नहीं तो वेबसाइट अच्छे से चल नहीं पाती है|

तो चलिए समझते हैं की technical seo कैसे करें और आपकी वेबसाइट को search engine friendly कैसे बनाये|

Technical SEO कैसे करें: 4 महत्वपूर्ण चीजें

Technical SEO में आपकी वेबसाइट से सम्बंधित सभी टेक्निकल चीजों को लिया जाता है पर मैं सभी को तो इस आर्टिकल में कवर नहीं कर पाउँगा पर आपको कुछ महत्वपूर्ण टेक्निकल चीजों के बारे में जरूर बताऊंगा| तो इसीलिए बड़े ध्यान से पढियेगा|

1. Domain, Hosting, Server Location क्या है

ये तीनों Technical SEO के महत्वपूर्ण भाग हैं जिनके अभाव में आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक करने में असफल साबित हो सकती है। यदि आप अपनी वेबसाइट को गूगल में रैंक करना चाहते हैं तो आपको इनका विशेष ध्यान रखना होगा।

अब चलिए इन्हें अच्छे से समझने की कोशिश करते हैं।  

क्या आप जानते हैं Domain क्या है और यह कितना महत्वपूर्ण है Domain हमारी वेबसाइट का नाम है जिससे हमारी वेबसाइट की पहचान होती है इसकी सहायता से ही लोग आपकी वेब साइट को Access कर पाते हैं। आपने वेबसाइट और ब्लॉग के नाम के आगे  .in, .com, .org, .gov ऐसा आपने जरुर देखा होगा। ये सभी Domain के अंतर्गत आते हैं। 

Web hosting एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें हमें अपनी वेबसाइट के डाटा को सुरक्षित ऑनलाइन सेव करने की सुविधा मिलती है जिससे कोई भी इंटरनेट user आसानी से हमारी वेबसाइट को Access कर सके। Web Hosting आपकी वेबसाइट डाटा को रखने की जगह और सभी इंटरनेट Users तक पहुँचने की सुविधा देता है।   

जिस जगह पर हमारी वेबसाइट host की जाती है उस स्थान को Server Location कहते हैं। यदि आप Indian Traffic को Target करना चाहते हैं तो आपको अपनी वेबसाइट को एशिया के Server पर host करना ज्यादा अच्छा रहेगा जिससे आपकी वेबसाइट ज्यादा जल्दी load हो सके| 

2. Page Speed क्या है

इंटरनेट पर किसी वेबसाइट के खुलने पर लगने वाला Loading Time ही Page Speed है। Google के Ranking factors में page speed का महत्वपूर्ण स्थान है|

तो चलिए एक उदाहरण के साथ इसे समझने का प्रयास करते हैं| 

जब हम किसी वेबसाइट को खोलते हैं तो वह वेबसाइट खुलने में 3 , 4 सेकण्ड्स का समय लेती है यदि कोई वेबसाइट 5 सेकण्ड्स से अधिक समय लेती है तो हम उस वेबसाइट के खुलने का इंतजार ना करके उसे बंद कर देते हैं और दूसरी वेबसाइट को खोल लेते हैं जिससे हम अपना कार्य जल्दी कर सकें।

अगर वेबसाइट पर Fast Loading नहीं होगी तो वेबसाइट पर ट्रैफिक कम होगा और users आपकी वेबसाइट को open नहीं करेंगे क्योंकि users उन्हीं वेबसाइट को पसंद करते हैं जिनकी Page Speed Fast होती है। यदि स्पीड कम है तो आपकी वेबसाइट गूगल पर ऊपर रैंक नहीं कर पायेगी। Page speed जानने के लिए आप GTmetrix टूल का प्रयोग कर सकते हैं|

3. AMP क्या है 

AMP की फुल फॉर्म Accelerated Mobile Pages होती है। यह एक Application की तरह कार्य करता है जो किसी भी तरह के Pages को Mobile Friendly Pages में बदल देता है। AMP आपके Article में महत्वपूर्ण चीजें ही दिखाता है जिससे आपकी वेबसाइट Fast Load होने लगती है। 

AMP क्या है यह जानने के लिए आपको अपनी वेबसाइट में मोबाइल Friendly Theme Install करना पड़ेगा। जो आपकी वेबसाइट को users और Google दोनों के लिए आसान बनायेगा। 

यदि आप AMP theme अपनी वेबसाइट पर install कर लेते हैं तो वह आपकी वेबसाइट को 2 तरह से user को दिखायेगा| पहले मोबाइल में तो AMP theme में और desktop पर standard theme में|

3. Broken Link क्या है

जब आप अपनी वेबसाइट का कोई ब्लॉग पोस्ट डिलीट कर देते है और पर उस ब्लॉग पोस्ट की लिंक आपने आपने वेबसाइट के किसी और ब्लॉग पोस्ट या किसी और वेबसाइट ने उस लिंक को अपने आर्टिकल में ऐड कर रखा होता है तो उसी को broken link कहते हैं|

???? Confused!

चलिए एक उदहारण के साथ समझते हैं की broken link kya hai और इसे कैसे हटाएँ|

मान लीजिए की आपने अपनी वेबसाइट में एक आर्टिकल लिखा की “broken link क्या है” और पब्लिश कर दिया| किसी और blogger ने आपके आर्टिकल के लिंक को उसके आर्टिकल में ऐड कर लिया| पर कुछ टाइम के बाद आपने आपने ब्रोकन लिंक वाला पोस्ट डिलीट कर दिया| लेकिन जो backlink आपके पोस्ट के बन गए थे वो तो वही के वही है| उन्ही links को Broken link कहेंगे|

यह आपकी वेबसाइट की search ranking पर बहुत असर डालते हैं| तो अगर आपको अपनी वेबसाइट में broken link मिल जाये तो या तो आप उसे हटा दें या फिर किसी और वेबसाइट को backlink दे दें |

4. Robot.txt और Sitemap क्या है

Robot.txt और Sitemap दोनों ही search engine को आपकी वेबसाइट को crawl और Rank करने में मदद करते हैं| दोस्तों जैसा की आप लोग जानते हैं की बिना crawling, indexing, और ranking के कोई आपकी वेबसाइट तक पहुँच नहीं पायेगा|

सबसे पहले आपको Robot.txt क्या है समझना बहुत जरुरी है जिससे आप अपनी वेबसाइट को crawl करवा सकें|

Robot.txt एक छोटी सी text फाइल होती है जिसे आपको अपनी website के root फोल्डर में add करना पड़ता है| जिससे जब भी crawlers आपकी वेबसाइट पर आते हैं तो यही Robot.txt फाइल ही बताती है की वेबसाइट के कौन से पेज को crawl और index करना है|

Sitemap search engine की आसानी के लिए आपके वेबसाइट के हर पेज की लिंक्स की एक लिस्ट तैयार कर देती है जिसे आपको Google Console में submit करनी पड़ती है| यह कह सकते हैं की XML sitemap केवल सर्च इंजन के लिए ही तैयार किया जाता है| Sitemap को तैयार करने के लिए बस आपको Yoast SEO या Rank Math को इनस्टॉल करना पड़ता है|

Local SEO क्या है और इसे कैसे करें

Local SEO क्या है यह आपको इसका नाम पड़ते ही पता चल गया होगा|Local+SEO यानि ऐसा SEO जो किसी भी वेबसाइट को locally rank करने में मदद करे| यह ज्यादातर local business के द्वारा प्रयोग किया जाता है जैसे कोई restaurant, hotel, दुकानदार आदि|

अगर आप भी Local SEO करना चाहते हैं तो पहले एक simple वेबसाइट बना कर उसे local business directories जैसे Google My Business, Yahoo My Business, आदि में add करना पड़ता है जिससे जब भी कोई आपके आस पास सर्च करे तो आपकी वेबसाइट को Google recommend कर देता है|

FAQ: SEO क्या है और इसे कैसे करते हैं

वैसे तो लोग मुझसे रोज सैकड़ों SEO से समन्धित सवाल पूछते हैं जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण सवालों का में इस आर्टिकल के जरिये जवाब दूंगा|

अगर आपको भी SEO करते समय कोई दिक्कत आ रही है तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं में जल्द से जल्द उसका जवाब देने की कोशिश करूँगा|

Q1. क्या SEO सीखने के लिए आपको coding की जानकारी होना जरुरी है?

Ans: नहीं, यह बात एक दम गलत है, अगर आपको बिलकुल भी coding नहीं आती होगी फिर भी आप SEO आसानी सीख सकते है| इसमें coding का बिलकुल भी काम नहीं है|लेकिन जब आप एक एडवांस ब्लॉगर बन जाते हैं तो अपनी वेबसाइट के डिज़ाइन में सुधार करने के लिए उसे और ज्यादा SEO friendly बनाने के लिए आपको कोडिंग की जरुरत पड़ सकती है| लेकिन यह जरुरी नहीं और न ही इससे कुछ ज्यादा फर्क पड़ता है|

Q2. क्या 2021 में SEO सीखना सही है?

Ans: SEO कभी ना बंद होने वाली प्रक्रिया है जिसे कभी भी सीखना फायदेमंद रहेगा चाहे वो 2021 हो या 2051| हाँ SEO करने का तरीका जरूर बदल जायेगा पर SEO चलता रहेगा| क्या आप कभी Google पर सर्च करना छोड़ सकते हैं? नहीं ना, इसीलिए अगर आपको SEO सीखना है सीख लीजिये यह आपका जीवन बदल देगा जैसे मेरा बदल दिया|

Q3. एक शुरुआती ब्लॉगर को अपने वेबसाइट का SEO करने में कितना समय देना चाहिए|

Ans: इसका उत्तर देना बहुत कठिन है पर ज्यादातर bloggers मुझसे यही पूछते हैं की हम आपने वेबसाइट के SEO को कितना समय दें| पर मेरा कहना यही है की आपको पहले अपनी वेबसाइट पर कंटेंट डालें और साथ ही उसका on page seo भी कर दें अब बात रही off page और technical seo की उसे करने के लिए आपके पास जितना भी खली समय हो उसमें ये कर लिया करिये|

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

2 COMMENTS

  1. Thanks sir.
    Your knowledge is very important for beginner bloggers.
    sir aapka naye bloger ko samjahnane ka tariqa bahut hi achha hai.
    sir me bhi blogging seekh raha hu.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here