About us

मैं कौन हूँ : Pavan Agrawal

मेरा नाम पवन अग्रवाल है और मैं Gadarwara शहर में रहने वाला हूँ जो मध्य प्रदेश में स्थित है। मैंने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई Maulana Azad National Institute of Technology भोपाल से की है। Tata Consultancy Services में मैंने अपनी पहली नौकरी की और उस नौकरी को मेहनत और लग्न से करने से मुझे अनुभव मिला जिससे मुझे आगे चलकर और अच्छी नौकरियाँ खोजने में ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। मुझे अपना पहला अनुभव हमेशा याद रहेगा मैं अपने दोस्तों और टीम मेम्बर्स को अपनी पहली नौकरी के अनुभव को शेयर करता रहता हूँ।

Pavan Agrawal in Scotland

इसके बाद Rolta India में मुझे नौकरी करने का मौका मिला लेकिन कुछ समय बाद मैंने Bloging के लिए इस नौकरी को फरवरी 2014 में छोड़ दिया। आज मेरी खुद की ब्लॉगिंग साइट है जिसका नाम दीपावली है जो एक हिंदी ब्लॉगिंग वेबसाइट है। मैंने अपने ब्लॉग की सहायता से महिलाओं को एक बेहतर रोजगार देने के लिए एक प्लेटफॉर्म तैयार किया है जिससे देश में रोजगार बढ़ सके और देश के विकास में भी सहायक हो। 

NamePavan Agrawal
Company NameAK Online Services Pvt Ltd
DesignationDirector
FacebookClick Here
LinkedinClick here

मैं एक ब्लॉगर कैसे बना ?

यदि कोई ब्लॉगर है तो उसे लिखने पढ़ने का शौक तो होगा ही क्योंकि यह एक स्वाभाविक सी बात है और इंटरनेट के बारे में कुछ न कुछ जानकारी तो सबको होती ही है। मेरा हाल भी कुछ ऐसा ही था मैं एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर होने के कारण ज्यादा समय नहीं निकाल पाता था पर जब भी मुझे कुछ समय मिलता था तो मैं कुछ न कुछ लिख कर पोस्ट करता रहता था। जिसकी बजह से मुझे ब्लॉगिंग के बारे में कुछ न कुछ जानकारी थी पर इसे प्रोफेशन बनाने के लिए मैंने कभी नहीं सोचा था। 

दीपावली हिन्दी ब्लॉग किस तरह बना ?

दीपावली हिंदी ब्लॉग की शुरुआत करने के बारे में उस समय सोचा मैंने जब मेरे छोटे भाई की शादी अंकिता अग्रवाल से हुई और वह हमारे परिवार की सदस्य बन गयी। शादी से पहले अंकिता बिज़नेस मैनेजमेंट फील्ड में नौकरी करती थी, पर मेरा भाई शादी के बाद काम के लिए UK जाना चाहता था, तो फिर हमने ब्लॉग शुरू करने के बारे में सोचा जिससे अंकिता उस Website पर काम भी कर सकेगी और मैं अपना सपना भी पूरा कर पाऊंगा। क्योंकि लड़कियाँ शादी से पहले तो नौकरी कर लेती हैं पर शादी के बाद उन्हें अपनी नौकरी छोड़नी पड़ जाती और वह अपना सपना भी पूरा नहीं कर पाती हैं। इसलिए हमने ये Website बनाने का निर्णय लिया जिससे अंकिता अपना सपना पूरा कर सके। हमने दीपावली ब्लॉग वर्ष 2013 में बनाया और फिर तब से अंकिता ने इसे मैनेज करने लगी। अब अंकिता घर की देख भाल के साथ साथ ब्लॉगिंग का काम भी करती है। 

Buy Hostinger Hosting and Free SSL

Additonal discount code:- SEOPAVAN

मैंने जॉब छोडने का निर्णय कैसे लिया ?

जब ब्लॉग बन गया तो हम उसमें सब तरह के आर्टिकल लिख कर पोस्ट करने लगे। इस काम को करते करते हम को कुछ समय बाद ऐसे बहुत से लोग मिलने लगे जिनको लिखने का बहुत शौक था वो सब लोग धीरे धीरे हमारी टीम से जुड़ने लग गए कुछ समय बाद हमारी टीम बहुत बढ़ गयी और हमारा ब्लॉग भी दिन प्रतिदिन बढ़ने लगा। जिस तरह से ब्लॉग अच्छे से आगे बढ़ रहा था वैसे वैसे मेरा भी मन नौकरी में नहीं लग रहा था क्योंकि मै सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग फील्ड में था और इस बजह से मुझे ब्लॉगिंग का काम करना ठीक नहीं लग रहा था। मैं कुछ अलग करना चाहता था, मैं ये मानता हूँ की हमें एक ही विषय पर फोकस करना चाहिए एक से अधिक पर ध्यान देने से हम अपने रास्ते से भटक जाते हैं तो हमें ऐसे विषय पर फोकस करना चाहिए जो हमें पसंद है। इसलिए मैंने ब्लॉगिंग फील्ड चुना और अपनी उस नौकरी को वर्ष 2014 में छोड़ दिया। उसके बाद मैं अपने परिवार से मिलने Gadarwara ( मध्य प्रदेश ) गया और 2 महीने तक अपने परिवार के साथ समय बिताया। इसके बाद मैंने मई 2014 में दीपावली हिंदी Website की टीम में शामिल हो गया। 

Deepawaliseotips की शुरुआत कैसे हुई 

मैंने deepawaliseotips की शुरुआत कुछ समय पहले ही की है इसमें seo से संबंधित ही आर्टिकल पोस्ट किये जाते हैं। इसकी शुरुआत मैंने इसलिए की क्योंकि मैंने देखा हमारे भारत देश में हमारी हिंदी भाषा में कोई भी लोगों को SEO और blogging के विषय में जानकारी नहीं दे रहा है| जिससे जो लोग इंग्लिश नहीं पड़ पाते हैं उन्हें काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है|जिससे नए bloggers को अपनी वेबसाइट बनाने में भी काफी कठिनाई हो रही है| वह लोग भी अपनी ब्लॉगिंग साइट बना पा रहें हैं|इंडिया के लोग seo के बारे ज्यादा नहीं जानते हैं इसलिए मैं ये चाहता हूँ कि उन सब लोगों blogging के बारें में सही और पूरी जानकारी उनकी मात्र भाषा हिंदी में ही मिल सके| इस साइट को बनाने का मेरा यही लक्ष्य है की मैं लोगों को सही जानकारी देकर उनका सहयोग कर सकूँ जिससे वह भी अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकें। 

अंकुर श्रीवास्तव

अंकुर उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में एक मध्यम वर्गीय परिवार से है, और उन्होंने एक प्राइवेट कॉलेज से B.COM की डिग्री प्राप्त की और अब घर पर रहकर MBA की तैयारी कर रहा है। पहले अंकुर एकाउंट्स का काम करता था पर उसे लगा वह उस फील्ड के लिए नहीं बना है तो उसने अपनी एकाउंट्स की नौकरी को छोड़ दिया और हमारी दीपावली वेबसाइट में शामिल हो गए और अब हमारी वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिखते हैं।

WP Rocket - WordPress Caching Plugin