Google AMP Pages Full Form Pros And Cons In Hindi

Google AMP Pages Full Form Pros And Cons In Hindi

जो लोग वेबसाइट कंटेंट राइटिंग का बिजनेस करते हैं वे गूगल AMP पेजेस के बारे में कुछ ना कुछ जरूर जानते होंगे लेकिन अगर उन्हें AMP पेजेस के बारे में नहीं पता है तो वे इस आर्टिकल में AMP पेजेस के बारे में सारी जानकारी पढ़ सकते हैं ।

गूगल AMP पेजेस क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है

 गूगल AMP पेजेस का फुल फॉर्म एक्सीलरेटेड मोबाइल पेजेस होता है । अगर हम इसके नाम के शाब्दिक अर्थ की तरफ जाए तो हमें एमपी का मतलब पता चल जाता है।  AMP पेजेस वे  होते हैं जो कि वेबसाइट की स्पीड बढ़ाते हैं अर्थात किसी भी साइट के पेज को क्लिक करने के बाद उसके लोडिंग टाइम को बढ़ाते हैं जिससे साइट का पेज जल्द से जल्द ओपन हो जाता हैं जिससे किसी भी साइट की स्पीड बेहतर होती है।

गूगल AMP पेजेस की क्या जरूरत हैं ?

आज के समय में यूजर के पास बहुत ही कम समय होता है और उसके पास हाई स्पीड डाटा का नेटवर्क होता है इसीलिए हर एक रीडर चाहता है कि उसे क्लिक करते ही उसका पसंदीदा डाटा पढ़ने मिल जाए लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो वह आसानी से साइट को बंद करके दूसरी साइट की तरफ रुख कर लेता है जो कि किसी भी साइट के लिए बुरा संकेत होता है और उस साइट के  बाउंस रेट को खराब करता है, इसी समस्या को कम करने के लिए गूगल ने एमपी  पेजेस की शुरुआत की ।

गूगल AMP पेजेस खासतौर पर किस प्लैटफ़ार्म के लिए बने हैं ।

गूगल AMP पेजेस खासतौर पर मोबाइल के लिए काम करते हैं । एमपी एक ओपन सोर्स फ्रेमवर्क होता है जो कि आसानी से मोबाइल पर काम करता है आज के समय में यह देखा गया है कि ज्यादातर लोग इंटरनेट ब्राउजिंग के लिए डेक्सटॉप लैपटॉप की अपेक्षा मोबाइल का इस्तेमाल करने लगे हैं इसीलिए एक ऐसी वेबसाइट का बनना बहुत ही जरूरी है जोकि मोबाइल फ्रेंडली हो इसीलिए किसी भी वेबसाइट के लिए गूगल AMP पेजेस उसकी स्पीड को बढ़ाते हैं और उनकी वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाते हैं जो भी वेबसाइट लोडिंग में ज्यादा वक्त लेती है वे वेबसाइट अगर गूगल AMP पेजेस की हेल्प लेती हैं तो यह पेजेस आसानी से  मोबाइल पर उपलब्ध हो जाते हैं फिर चाहे उस साइट पर कितना ही ज्यादा बड़ा कंटैंट क्यों ना हो, वह कुछ ही समय पर मोबाइल स्क्रीन पर खुल जाता है ।

गूगल AMP पेजेस में एचटीएमएल जावास्क्रिप्ट और CACHE LIBRARIES दी गई हैं जो कि किसी भी वेबसाइट को बहुत ही सुंदर और यूजर फ्रेंडली बनाती हैं जिससे पेजेस तेजी से लोड होते हैं और मोबाइल ब्राउज़िंग करते समाअत क्लिक करते ही खुल जाते हैं ।

गूगल गूगल AMP पेजेस के क्या लाभ हैं ?

वेबसाइट की स्पीड बढ़ जाती है

इसका सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह वेबसाइट की स्पीड को बढ़ाता है अर्थात ब्राउज़िंग के समय इस साइट के पेजेस को क्लिक करते ही वे स्क्रीन पर खुल जाते हैं जिससे यूजर का समय बचता है और उसे बिना किसी परेशानी के पसंदीदा डाटा पढ़ने मिलता है जिससे साइट की परफॉर्मेंस और बेहतर होती है और वे यूजर द्वारा पसंद की जाने लगती है ।

कंटैंट बेस्ड वेबसाइट के लिए एमपी पेजेस बहुत महत्वपूर्ण है

वे वेबसाइट जो यूजर को महत्वपूर्ण जानकारी देती है उन वेबसाइट के लिए गूगल AMP पेजेस बहुत ही उत्तम तरीका है जो कि उनकी साइट के लोडिंग टाइम को कम करता है और आसानी से यूजर को डाटा उपलब्ध कराता है ।

Server को भी फायदा मिलता है

गूगल AMP पेजेस के इस्तेमाल से साइट के Server को भी फायदा मिलता है क्योंकि गूगल AMP पेजेस के कारण साइट का लोडिंग टाइम अपने आप ही कम हो जाता है जिससे सर्वर पर का स्ट्रैस कम पड़ता है और Server की परफॉर्मेंस बेहतर होती जाती है ।

नकारात्मक प्रभाव से साइट बची रहती है

आज के समय में हर एक रीडर के पार हाई स्पीड डाटा होता है इसीलिए वह चाहता है कि उसका समय बचे और क्लिक करते ही साइट का पेज उसके सामने मौजूद रहे, परंतु समान्यतः वेबसाइट मोबाइल पर खुलने में समय लेती है लेकिन वे वेबसाइट जो कि गूगल AMP पेजेस का इस्तेमाल करती हैं वे मोबाइल ब्राउज़िंग पर आसानी से खुल जाती हैं जिससे उन साइट पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता।

रेंकिंग पर पॉज़िटिव इफैक्ट

चूंकि गूगल AMP पेजेस के कारण साइट की स्पीड बढ़ जाती है और वह मोबाइल पर आसानी से खुलने लगती है, इस कारण मोबाइल  इस सर्च इंजन पर उस साइट की रैंकिंग बेहतर हो जाती है। वैसे तो गूगल AMP पेजेस का साइट रैंकिंग पर कोई डायरेक्ट पॉजिटिव इफेक्ट नहीं होता है लेकिन अगर किसी साइट को यूजर द्वारा अधिक पसंद किया जा रहा है तो इसका प्रभाव पॉज़िटिव पड़ता है ।

गूगल AMP पेजेस हानियाँ

नेगेटिव इफेक्ट

गूगल AMP पेजेस के कारण साइट के पेजेस तेजी से मोबाइल पर खुलती है जिसके लिए उस साइट को कैसे मेमोरी में क्यों किया जाता है जिससे सारी मेमोरी खत्म हो जाती है और इसका प्रभाव वेबसाइट पर नकारात्मक देखा गया है ।

 रेवेन्यू घट जाता है

AMP पेजेस साइट की स्पीड को अच्छा करने के लिए उसमें केवल वैल्युएबल कंटेंट को ही अपने रीडर को दिखाते है, इस स्थिति में साइट गूगल एड कम शो करती हैं, जिसका प्रभाव रेवेन्यू पर पड़ता है और एड्स का रेवेन्यू घटता चला जाता है ।

 शॉपिंग वेबसाइट पर नकारात्मक प्रभाव

 क्योंकि AMP पेजेस हैवी कंटेंट नहीं दिखाते है अर्थात वह वीडियो, फोटोज़ जैसी चीजें अपलोड नहीं करती है और शॉपिंग वेबसाइट पर इमेजेस का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है। अगर ऐसे में इमेजेस ही अपलोड ना की जाए तो साइट पर गलत प्रभाव पड़ेगा।

गूगल एमपी वेबसाइट पर किस तरह से काम करता है

आज के समय में ज्यादातर लोग मोबाइल का उपयोग करते हैं, इसीलिए मोबाइल फ्रेंडली साइट का होना बहुत जरूरी है।  AMP पेजेस यही कार्य करता है।  वह किसी भी साइट को ऑप्टिमाइज कर देता है जिससे वह साइट मोबाइल पर आसानी से उपलब्ध कराई जा सके।  इसे करने के लिए साइट ओनर अपनी वेबसाइट के AMP पेजेस को इनेबल कर देता है जिससे उसकी साइट ऑप्टिमाइज हो जाती है जिसके तहत AMP पेजेस केवल उस कंटैंट को पहले अपने रीडर को दिखाते हैं जो कि बहुत ज्यादा जरूरी है और जो कंटैंट धीरे-धीरे अपलोड होता है, गूगल उन्हें सेकंड प्रिओरिटी पर रखता है जिससे साइट जल्द ही से ओपन हो जाती है।  इस प्रक्रिया को करने के लिए गूगल AMP पेजेस आपके साइट के डाटा को अपने Cache मेमोरी में स्टोर कर लेता है और जैसे ही आप की साइट से संबंधित क्वेरी आती है तो वह अपने Cache में स्टोर डाटा को रीडर को उपलब्ध कराता है, इससे साइट जल्दी ब्राउज़र पर ओपन हो जाती है ।

AMP पेजेस कैसे सेट किए जाते हैं

  1. AMP पेजेस एक तरह का प्लगइन है इसलिए, किसी भी वेबसाइट में AMP पेजेस इनेबल करने के लिए हमें ए एमपी प्लगइन को वेबसाइट में ऐड करना होता है ।
  2. इस प्लगइन को इंस्टॉल करने के बाद AMP पेजेस की सेटिंग की जाती है जो कि साइट ओनर अपनी रिक्वायरमेंट के हिसाब से कर सकता है जैसे उसे अपनी साइट का व्यू किस तरह से रखना है और किस तरह से अपने डेटा को यूजर के सामने प्रेजेंट करवाना है। 
  3. सारी सेटिंग अपने हिसाब से करने के बाद सेव और पब्लिश करते ही AMP पेजेस की सेटिंग साइट पर हो जाती है ।
AMP pages full form क्या हैं ?

Accelerated Mobile Pages

खासतौर पर AMP pages किस प्लैटफ़ार्म के लिए डिज़ाइन किए गए हैं ?

मोबाइल फोन

AMP पेजेस का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता हैं ?

साइट की स्पीड बढ़ाने के लिए

क्या AMP पेजेस का SEO पर कोई फर्क पड़ता हैं ?

नहीं, लेकिन स्पीड बढ़ जाने के कारण इन वैबसाइट की वैल्यू रीडर की नज़रों में बढ़ जाती हैं ।

AMP पेजेस पर रेवेन्यू कम आता हैं ?

ऐसा जरूरी नहीं हैं, AMP पेजेस पर एडसेंस के दूसरे तरह के कोड का इस्तेमाल किया जाता हैं जिससे वे साइट पर तेजी से अपलोड हो सकते हैं ।

Other Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *